सोरेन सरकार की कैबिनेट बैठक आज, 1932 खतियान के समेत इन मामलों पर आ सकती है प्रस्ताव !

jharkhand 1932 khatiyan cabinet meeting

सार
22 साल बाद फिर से हेमंत सोरेन सरकार में 1932 का खतियान हर किसी की जुबां पर है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के द्वारा खतियान आधारित स्थानीय नीति की ओर इशारा करते ही बहस तेज हो गई है.

हाइलाइट्स
हेमंत सोरेन सरकार की कैबिनेट बैठक में 1932 के खतियान और ओबीसी आरक्षण पर बड़ा फैसला आ सकता है.
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने OBC कटेगरी का आरक्षण 27 प्रतिशत तक करने का बड़ा दांव खेलने का निर्णय लिया है.

Jharkhand News : झारखंड में 1932 खतियान आधारित स्थानीय नीति लागू करने के प्रयास में सरकार लगी हुई है. कैबिनेट के लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है. साथ ही ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए प्रस्ताव तैयार हो रहा है. इसके अलावा राज्य में जातीय जनगणना कराने के लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा जायेगा. इसके पूर्व इसकी मंजूरी कैबिनेट से ली जायेगी.

मालूम हो कि बुधवार को कैबिनेट की बैठक होगी. प्रोजेक्ट भवन में होने वाली बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन करेंगे. कैबिनेट की बैठक में 38 हजार से अधिक आंगनबाड़ी सेविकाओं और सहायिकाओं के मानदेय में वृद्धि का प्रस्ताव लाया जा सकता है. वहीं पंचायत सचिव की नियुक्ति से संबंधित प्रस्ताव आ सकता है.

बता दें कि झारखंड में स्थानीय नीति के बाद OBC आरक्षण का मामला राजनीतिक के केंद्र में है. राज्य की हेमंत सोरेन सरकार ने OBC का आरक्षण 27 प्रतिशत तक करने का बड़ा दांव खेलने का निर्णय लिया है. इस निर्णय में उसकी सहयोगी दल कांग्रेस भी साथ-साथ है. झारखंड में आरक्षण का दायरा बढ़ाने को लेकर सरकार की तैयारी पर गौर करें, तो अनुसूचित जनजाति यानी ST का आरक्षण 26 से बढ़ा कर 28 करने की तैयारी है, जबकि OBC का आरक्षण 14 से बढ़ा कर 27 प्रतिशत करने की तैयारी है. वहीं अनुसूचित जाति SC का आरक्षण 10 से बढ़ा कर 12 प्रतिशत करने की जा सकती है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News