8वीं के छात्र ने आइपीएल में लगाया था सट्टा, 40 हजार रुपये हार गया तो दोस्‍तों ने पत्‍थर से कूचकर मार डाला

dhanbad ipl sattabaj crime news

सार
महुदा रेलवे कॉलोनी के रहने वाले रेलवे ठेकेदार विंध्याचल यादव के 14 साल के बेटे हर्षित कुमार यादव की अपहरण के बाद गला दबाकर हत्या कर दी गई . पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

Dhanbad : महुदा के रेलवे ठेकेदार विंध्याचल यादव के 14 वर्षीय बेटे हर्षित कुमार यादव का शव महुदा थाना की पुलिस ने बरामद कर लिया गया है। इस हत्‍याकांड की गुत्‍थी भी पुलिस ने सुलझा ली है। मामले में संदेह के आधार पर जिन लड़कों को पूछताछ के लिए पुलिस ने थाना लाया था, उन्हीं लोगों ने कबूल लिया कि अपने दोस्‍त को उन्‍होंने पत्‍थर से कूचकर मार डाला था। मृतक हर्षित कुमार डीएवी स्कूल महुदा में आठवीं कक्षा में पढ़ता था।

आइपीएल में सट्टा लगाया, लेकिन हारने के बाद नहीं दे रहा था रुपये
पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि हर्षित ने आइपीएल में सट्टा लगाया था। इसमें बड़ी रकम वह हार गया, लेकिन यह रुपये दे नहीं रहा था। इसी पर उसके दोस्तों ने उसकी जान ले ली और शव को दफना दिया था। शुक्रवार रात महुदा थाना की पुलिस ने उसका शव ब्लॉक दो के समीप एक गड्ढे से बरामद किया। उसके दोस्‍त उससे सट्टे में हारे हुए 40 हजार रुपये मांग रहे थे।

पिता के मुताबिक आईपीएल साट्टेबाजी में हर्षित की हत्या की गई है. बलवंत से हर्षित ने 40 हजार रुपये लिए थे, पैसे के लिए बलवंत, हर्षित के ऊपर दबाव बना रहा था. पिता के मुताबिक पैसे के लिए हर्षित की हत्या की गई है. इधर जानकारी मिली है कि बलवंत महुदा डीएवी में ही पढ़ाई करता था, उसके आचरण को देखते हुए उसे स्कूल से निष्कासित कर दिया गया था. वर्तमान में वह सिनीडीह के एक निजी स्कूल में 10वीं क्लास में है. बलवंत बाघमारा का रहनेवाला है, जबकि नीतीश सोनारडीह का रहनेवाला है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News