गरबा आयोजन में पथराव करना पड़ा भारी, घर पर चला बुलडोजर

ghar par chala buldozer

सार
मध्य प्रदेश के मंदसौर में गरबा पंडाल पर पथराव करने वाले तीन आरोपियों के घर पर प्रशासन ने बुलडोजर चलाया है. इन आरोपियों के खिलाफ पहले भी अपराधिक मामले दर्ज हैं.

मंदसौर: पथराव के मामले में गृह मंत्री और प्रदेश सरकार के सख्त निर्देशों के बाद मंदसौर जिले में भी धार्मिक आयोजन गरबो में पथराव के मामले में सख्त कार्रवाई की गई है.मामले में 7 आरोपियों को हिरासत में लिया गया है और शेष फरार आरोपियों पर इनाम भी घोषित किया गया है. साथ ही पुलिस प्रशासन की टीम ने 3 आरोपियों के मकानों में बने अवैध हिस्सों को जेसीबी के जरिए तोड़ दिया है. बता दें कि मुक्त कराई गई जमीन की कीमत लगभग 4 करोड़ रुपये है.

प्रशासन की टीम भी मौके पर मौजूद रही
दरअसल मध्यप्रदेश के मंदसौर के ग्राम सुरजनी में 2 दिन पहले गरबा स्थल पर हुए पथराव के मामले में पुलिस ने सख्त रवैया अपनाते हुए आज आरोपियों के घर पर बुलडोजर चलाया है.ग्राम सुरजनी में भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात है.प्रशासन की टीम भी मौके पर मौजूद रही और आला अधिकारियों की उपस्थिति में आरोपियों के घर पर कार्रवाई कर अवैध निर्माण के हिस्से को ढहाया गया.गौरतलब है कि क्षेत्र मादक पदार्थ की तस्करी को लेकर भी लगातार सुर्खियों में आता रहा है.कुछ समय पहले ही बेलारी में एक आरोपी की गिरफ्तारी करने गए तत्कालीन थाना प्रभारी पर भी इसी क्षेत्र में आरोपी द्वारा गोली चलाई गई थी.जिसमें थाना प्रभारी बाल-बाल बचे थे.

पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानियां ने बताया कि 2 अक्टूबर की रात को विवाद हुआ था. जिसमें आरोपियों ने गरबे में धार्मिक आयोजन में पत्थर फेंके थे, उसमें जब जांच की गई तो कुछ आपराधिक तत्वों के नाम सामने आए थे. जिस पर एफ.आई.आर दर्ज की गई और 7 लोगों को हिरासत में लिया गया. रेवेन्यू डिपार्टमेंट की मदद से 3 लोगों से 4500 स्क्वायर फीट जमीन पर किया गया अतिक्रमण हटाया गया है. जिसकी अनुमानित कीमत 4 करोड़ रुपये से ज्यादा है .इसमें 19 आरोपी है. जिसमें से जो पकड़ में नहीं आए है. इन पर इनाम भी घोषित कर दिया गया है और जल्द से जल्द सभी को पकड़ा जाएगा. प्रशासन ने आरोपियों को चिन्हित किया है और उनके अवैध निर्माण को ढ़हाया जा रहा है.

गांव में पुलिस का पैदल मार्च
बुलडोजर की कार्रवाई से पहले पुलिस का गांव में पैदल मार्च निकला. जहां पर मकान तोड़ने की कार्रवाई की जा रही है, वहां आसपास के इलाके को पूरी तरह बंद कर दिया गया है. पुलिस कर्मियों ने पूरे इलाके को घेर रखा है. बताया जाता है कि मकान तोड़ने का नोटिस पहले ही तामिल हो गया था. मकान पर बुलडोजर चलाने से पहले घर में मौजूद लोगों को भी बाहर निकाला गया.

मंदसौर के SDM संदीप शिवा ने कहा,

       ‘ये अवैध निर्माण थे, इसलिए हमने इन्हें गिरा दिया. पंचायत द्वारा जानकारी दी गई थी कि ये मकान अवैध तरीके से पंचायत की भूमि पर बनाए गए हैं.            इन्हें हटाने के  लिए नोटिस भी दिया गया था, लेकिन इन्होंने कुछ नहीं किया. जिसके बाद प्रशासन ने ये कार्रवाई की है.’

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक बीते रविवार 2 अक्टूबर की रात को ये घटना हुई, जिसमें कथित तौर पर सलमान खान नामक शख्स ने गरबा के आयोजनकर्ता शिवलाल पाटीदार और ग्राम प्रधान महेश के ऊपर जानलेवा हमला किया था.

बाद में सलमान और उसके साथियों ने कथित तौर पर पंडाल ने पत्थरबाजी भी की, जिसमें कई महिलाएं घायल हुई हैं. महेश पाटीदार और शिवलाल इस समय जिला अस्पताल में भर्ती हैं, जहां उनकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News