केंद्र सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक, झारखंड के लोगों की आमदनी बढ़ी, विकास को भी मिली रफ्तार !

Jharkhand Economic Survey

Annual income of people of Jharkhand: झारखंड के लोगों की सालाना आमदनी में बढ़ोतरी हुई है. कोरोना की मार के बाद आमदनी में उछाल दर्ज हुआ है. भारत सरकार के आंकलन के मुताबिक वर्तमान मूल्य पर झारखंडवासियों की सालाना आमदनी 7,879 बढ़ गई है. साल 2020-21 में झारखंड के लोगों की सालाना आमदनी 71,071 रुपए थी, जो 2021-22 के बाद 78,660 रुपए हो गई है. इस लिहाज से वर्तमान मूल्य पर प्रति व्यक्ति आय में पिछले साल की तुलना में 10.68 फीसदी वृद्धि है.

झारखंड में रोजगार के अवसर बढ़े: स्थिर मूल्य पर भी झारखंड की प्रति व्यक्ति आय में पिछले साल की तुलना में 3,761 रुपए की वृद्धि हुई है. झारखंड की प्रति व्यक्ति आय स्थिर मूल्य पर 2020-21 के बाद 51,365 रुपए थी, जो 7.32 प्रतिशत इजाफे के साथ 2021-22 के बाद 55,126 रुपए हो गई है. इससे साफ है कि झारखंड में रोजगार (Jobs in Jharkhand) के अवसर बढ़े हैं. यहां के कारोबार में इजाफा हो रहा है. लोगों में जागरुकता आई है. यह झारखंड के लिए शुभ संकेत हैं.

झारखंड में लोगों को जीवन जीना हुआ आसान
स्थिर मूल्य पर झारखंड की प्रति व्यक्ति आय में बढ़ोत्तरी पिछले साल की तुलना में लगभग आधी यानी 3761 रुपए हैं। झारखंड की प्रति व्यक्ति आय स्थिर मूल्य पर 2020-21 के बाद 51,365 रुपए थी। जो 2021-22 के बाद 55,126 रुपए हो गई है। स्थिर मूल्य पर प्रति व्यक्ति आय में यह वृद्धि 7.32 प्रतिशत है। प्रति व्यक्ति आय बढ़ने से यह साफ है कि प्रदेश के लोगों की रोजगार, विकास और समृद्धि संबंधी आकांक्षाओं में बढ़ोत्तरी हुई है। लोगों का जीवन जीना आसान हुआ है तथा कारोबार की संभावनाएं और रोजगार के अवसर विकसित हुए हैं। बेरोजगारी दर के कम हो रहे आंकड़े भी इस ओर संकेत कर रहे हैं।

दो साल बाद बढ़ी प्रति व्यक्ति आय
भारत सरकार की ओर से जारी किए गए आंकड़ों पर गौर करें तो झारखंड की प्रति व्यक्ति आय दो साल बाद बढ़ी है। 2019-20 और 2020-21 दोनों में झारखंड की प्रति व्यक्ति आय लगातार नीचे गिरी थी। वर्तमान मूल्य पर 2018-19 में झारखंड की प्रति व्यक्ति आय 75,421 रुपए थी, जो 2019-20 में घटकर 75,016 रुपए और 2020-21 के बाद 71,071 रुपए रह गई थी। इसी तरह 2019-20 और 2020-21 में वर्तमान मूल्य पर प्रति व्यक्ति आय में क्रमशः 0.54 प्रतिशत और 5.26 प्रतिशत की गिरावट आई। स्थिर मूल्य पर भी 2018-19 में झारखंड की प्रति व्यक्ति आय 56,133 रुपए थी, जो 2019-20 में घटकर 55,568 रुपए और 2020-21 में 51,365 रुपए रह गई। स्थिर मूल्य पर प्रति व्यक्ति आय में 0.85 प्रतिशत और 7.71 प्रतिशत की गिरावट आई।

झारखंड की विकास दर में इजाफा:
झारखंड की विकास दर में भी इजाफा हुआ है. 2020-21 में -5.52 प्रतिशत की नकारात्मक विकास रहने के बाद 8.15 प्रतिशत का उछाल आया है. स्थिर मूल्य पर झारखंड का सकल घरेलू उत्पाद 2020-21 में 2,18,962 करोड़ का था, जो 2021-22 के बाद बढ़कर 2,36,816 करोड़ का हो गया है. जबकि वर्तमान मूल्य पर भी पिछले साल -3.09 प्रतिशत नकारात्मक विकास दर था, जिसमें पिछले साल की तुलना में 14.12 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. वर्तमान मूल्य पर राज्य का सकल घरेलू उत्पाद 2020-21 में 3,00,716 करोड़ रुपए था, जो 2021-22 में 3,43,178 करोड़ का हो गया है.

ऐसे बढ़ी राज्य की जीडीपी
साल – वर्तमान मूल्य – स्थिर मूल्य
2021-22 – 3,43,178 करोड़ – 2,36,816 करोड़
2020-21 – 3,00,716 करोड़ – 2,18,962 करोड़
2019-20 – 3,10,305 करोड़ – 3,00,716 करोड़

ऐसे बढ़ा सालाना प्रति व्यक्ति आय
साल – वर्तमान मूल्य – स्थिर मूल्य
2021-22 – 78,660 रुपए – 55,126 रुपए
2020-21 – 71,071 रुपए – 51,365 रुपए
2019-20 – 75,016 रुपए – 55,568 रुपए
2018-19 – 75,421 रुपए – 56,133 रुपए

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News