मर्सिडीज में 2 रुपए किलो वाला गेहूं लेने पहुंचा, अब सफाई दी- गाड़ी रिश्तेदार की, मैं तो गरीब आदमी हूं

mercedese me gaya sasta gehun lene

Zara Hatke : पंजाब में सस्ते राशन स्कीम की हालत बयां करता एक वीडियो होशियारपुर से सामने आया है। यहां एक व्यक्ति मर्सिडीज में 2 रुपए किलो गेहूं लेने पहुंचा। उसने मर्सिडीज डिपो के बाहर खड़ी की। मर्सिडीज चला रहा व्यक्ति डिपो होल्डर के पास गया। वहां से 4 कट्‌टे राशन लिया। उसे मर्सिडीज की डिक्की में डाला और वहां से चला गया। इस मर्सिडीज का नंबर भी VIP था। यह पूरा वाकया वहां मौजूद किसी लोकल व्यक्ति ने वीडियो में रिकॉर्ड कर लिया। वहीं इस मामले में पंजाब के फूड एवं सिविल सप्लाई मंत्री लालचंद कटारूचक्क ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

वहीं मर्सिडीज वाले व्यक्ति का कहना है कि मैं गरीब आदमी हूं। यह रिश्तेदार की मर्सिडीज किसी रिश्तेदार की है। मेरे तो बच्चे भी सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं।

डिपो होल्डर बोला- कार्ड सरकार ने बनाए, मेरा रोल नहीं
इस मामले में डिपो होल्डर ने कहा कि कार्ड सरकार और डिपार्टमेंट ने बनाए हैं। हमारा कोई रोल नहीं है। सरकार की हिदायत है कि जिसके पास भी गरीबों वाला कार्ड हो, उसे हमें राशन देना पड़ता है। उनके कार्ड कैसे बने, इसके बारे में मैं कुछ नहीं कह सकता।

सरकार अब आटे की होम डिलीवरी करेगी
गरीबों के सस्ते राशन में धांधली के बाद अब पंजाब की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार आटा देने जा रही है। 1 अक्टूबर से इसकी डोर टू डोर यानी होम डिलीवरी होगी। इसके जरिए भी सरकार पड़ताल करेगी कि किसका कार्ड गलत बना हुआ है। अभी गुपचुप इसी तरह अमीर लोग गरीबों का राशन खा रहे हैं। घर पर सस्ते राशन की गाड़ी पहुंचने के बाद सबकी पोल खुल जाएगी।

मर्सिडीज मेरे रिश्तेदार की, मैं गरीब आदमी
इस संबंध में मर्सिडीज में गेहूं लाने वाला व्यक्ति बोला कि मर्सिडीज मेरे रिश्तेदार की है। वह विदेश रहते हैं। गाड़ी हमारे घर के पास प्लॉट में खड़ी रहती है। डीजल गाड़ी होने की वजह से कभी-कभी उसे चलाता हूं। मेरे तो बच्चे भी सरकारी स्कूल में पड़ते हैं। बच्चे डिपो के पास खड़े थे, उन्होंने हाथ देकर कहा कि इसे ले जाओ। मेरा तो छोटा सा वीडियोग्राफी का काम है। किसी ने शरारत कर कह दिया कि गाड़ी इनकी है। RC भी मेरे नाम पर नहीं है। मैं तो गरीब आदमी हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News