मुगलों पर भड़के Azam Khan, बोले- ताजमहल-लालकिला की जगह मदरसा स्कूल और यूनिवर्सिटी बनाई होती तो…

mughal par bhadke azam khan

सार
आजम खान ने रामपुर की रैली में मुगल शासन को याद करते हुए कहा कि अगर वे ताजमहल की जगह स्कूल और कॉलेज बना देते तो मुल्क की तरक्की होती.

Rampur By Election: समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान ने मुगलों पर अपनी भड़ास निकालते हुए कहा कि एक काम भी ऐसा नहीं किया, जो उनकी याद का होता। ताजमहल, लालकिला और कुतुबमीनार जैसी देशभर में मुगलों द्वारा बनवाई गई ऐतिहासिक इमारतों को लेकर उन्होंने कहा कि उस पैसे से मदरसे, स्कूल और यूनिवर्सिटी बनवाई होतीं, तो देश की तरक्की होती और मुस्लिम भी जलील ओ ख्वार ना हो रहे होते।

कुतुबमीनार मरने के आम आती है- आजम खान
उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट पर सपा प्रत्याशी आसिम रजा के लिए एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने ये बातें कहीं। उन्होंने कहा, “मुगलों ने ताजमहल बनवाया, जो हमारे किसी काम का नहीं, दिल्ली का लाल किला बनवाया, उससे हमें कोई फैज हासिल नहीं है, आगरा का किला बनवाया, उससे हमारा कोई लेना-देना नहीं है। कुतुब मीनार खुदकुशी के काम आती है, लिहाजा वो हमारे यहां हराम है, उससे भी हमारा लेना-देना नहीं है।”

इमारतों की जगह 100-200 यूनिवर्सिटीयां बन सकती थीं
आजम मुगलों पर काफी भड़के और कहा कि इन इमारतों की जगह कोई कारखाना या पढ़ाई के लिए स्कूल कॉलेज बनवाए होते, तो ज्यादा बेहतर होता। उन्होंने कहा जितना पैसा इन इमारतों, जिनसे मुगल पहचाने जाते हैं, में लगाया गया, उनसे 100-200 यूनिवर्सिटीयां बन जातीं।

भावुक होकर बोले आजम- हमारे कर्म ही ऐसे थे… मुझे किसी से गिला नहीं
इस दौरान, वो काफी भावुक हो गए और मुस्लिम शासकों के शासन का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सैकड़ों साल की हुकूमत में भी मुस्लिम जलील ओ ख्वार रहे, उनकी तालीम और तरबियत का कोई इंतेजाम नहीं हो सका।

अग्निपथ योजना पर यह बोले आजम
आजम खान ने अग्निपथ योजना का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, ”देखो क्या हो रहा है बिहार में. कितने करोड़ों नौजवान बेरोजगार हैं. कोई काम नहीं है. याद होगा आपको जब मैंने एक लाख सफाई कर्मचारी रखने का ऐलान किया था और 65 हजार रखे थे. इसी शहर के एमए और एमएससी पास, यहां तक कि रिसर्च स्कॉलर भी नाला सफाई की नौकरी तलाश करने के लिए लाइन में लगा हुआ था. शायद आज भी वह नौजवान यहां पर नाले की साफ कर रहा हो जिसके पास एमएससी और एमए की डिग्री है. यह मुल्क की बदनसीबी है.”

वहीं, आजम ने महंगाई को लेकर भी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने पूछा कि तेल की कीमत क्या है? गैस, डीजल और पेट्रोल की कीमत क्या है? मिट्टी का तेल गायब है. हमें सरकारी खजाने से जो नमक दिया गया था वह भी हमें नहीं मिलात. हमें नमक के भी काबिल नहीं समझा गया. आजम ने कहा कि संसद में उनकी आवाज आसिम राजा उठाएंगे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News