Bhagyashree in Ranchi : फिल्मों का बायकाट करना ठीक नहीं, एक फिल्म बनाने में हज़ारों की मेहनत लगती है !

Bhagyashree in Ranchi

Bhagyashree in Ranchi : मैंने प्यार किया फेम अदाकारा भाग्यश्री ने कहा बालीवुड की कुछ फिल्मों के बहिष्कार का जो ट्रेंड चल रहा है, उसे ठीक नहीं कहा जा सकता। आपका यदि एक व्यक्ति से द्वेष हो तो उसका खामियाजा सबको भुगतना पड़ता है। उसमें संगीतकार है, नृत्य निर्देशक है, सह कलाकार हैं… ऐसे हजारों लोगों का श्रम शामिल होता है। इससे अधिक की रोजी-रोटी चलती है। हमें इनका भी ध्यान रखना चाहिए। यह किसी एक धारा के लिए नहीं, सबके लिए है।

क्या दक्षिण की फिल्में बालीवुड की अपेक्षा ज्यादा राष्ट्रवादी हैं
फिल्में दक्षिण की हों या बालीवुड की, एक कलाकार तो वही करता है, जो कहा जाता है। फिल्म तो वस्तुत: प्रोड्यूसर और डायरेक्टर की होती है। विषय उसका होता है। हम तो बस कठपुतली हैं। काम वह कराता है। जहां तक दक्षिण की बात है, वहां एक्शनप्रधान फिल्में खूब हैं। भव्य सेट बनते हैं। पर, अब यह दीवार भी टूट गई है।

लंबे समय बाद आपने फिल्मों में वापसी की
इसकी कई वजहें हैं। शादी के बाद घर-परिवार में व्यस्त हो गई। इसके बाद ससुर का स्वास्थ्य ठीक नहीं रहा तो उनकी सेवा में समय लग गया। फिर मेरे हाथ में दिक्कत आई। एक हाथ उठ ही नहीं रहा था। लंबे समय तक उपचार चला। इसके बाद ठीक हुआ। इस तरह कई परेशानियां आईं। अब सब ठीक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News