जिस पार्टी के पास जितने MLA, उसे उतना हिस्सा; सबसे ज्यादा 21 विभाग RJD को, JDU को 12 मिलेंगे

rjd jdu news

सार
Nitish Kumar Cabinet Expansion: 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा में कांग्रेस के 19 विधायक हैं। जबकि, जदयू के 43 विधायक हैं। इसके अलावा राजद के सदस्यों की संख्या 79 और CPI(ML) के 12 विधायक हैं।

Heighlight
नीतीश कुमार मुख्‍यमंत्री तो तेजस्‍वी यादव बनेंगे उपमुख्‍यमंत्री
महागठबंधन सरकार में मंत्रिमंडल गठन का खाका तय
सीएम नीतीश के पसंदीदा गृह विभाग को चाहता आरजेडी

बिहार में बुधवार को नीतीश कुमार महागठबंधन की नई सरकार के मुख्‍यमंत्री के रूप में पद व गोपनीयता की शपथ लेंगे। उनके साथ तेजस्‍वी यादव भी उपमुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण राज्यपाल फागू चौहान बुधवार को दोपहर दो बजे कराएंगे। नई सरकार के मंत्रिमंडल के गठन के खाका पर भी सहमति बन चुकी है।

अभी तक NDA सरकार में भाजपा का बड़ा रोल था। दूसरा नंबर JDU और तीसरा नंबर हम का था। लिहाजा तीन पार्टियां होने की वजह से ज्यादा परेशानी नहीं थी, लेकिन अब सत्ता में आधा दर्जन पार्टियां भागीदारी कर रही हैं। इसलिए विभागों के बंटवारे में थोड़ी मुश्किल आएगी। कांग्रेस ने विधानसभा अध्यक्ष का पद भी मांगा है।

बिहार में 44 विभाग हैं। इन विभागों में संख्या के आधार पर हिस्सेदारी होती है तो ,सबसे ज्यादा मंत्री पद RJD के खाते में जाएंगे। ये तेजस्वी पर निर्भर करता है कि वे जितने विभाग हैं उतने मंत्री रखेंगे या किसी एक मंत्री को अतिरिक्त विभाग देंगे।

ऐसे हो सकता है बंटवारा
हिसाब के मुताबिक,164 विधायकों का समर्थन नीतीश कुमार ने राज्यपाल को सौंपा है। इसमें RJD के 79, JDU के 45, लेफ्ट के 16, कांग्रेस के 19, HAM के 4 और एक निर्दलीय की हिस्सेदारी है। 44 विभागों का बंटवारा किया जाएगा तो 3.72 विधायक पर एक विभाग का हिस्सा पड़ता है। संख्या के मुताबिक, RJD को 21 विभाग मिलेंगे। वहीं, JDU को 12 से संतोष करना पड़ेगा। लेफ्ट के 4 विधायकों का समर्थन रहेगा। हम और निर्दलीय को एक-एक मंत्री पद से ही संतोष करना पड़ सकता है। अब ऐसे में महागठबंधन के दलों को तय करना है कि वो संख्या के आधार पर विभागों का बंटवारा करते हैं या फिर सिम्बॉलिक व्यवस्था लाते हैं।

हम और निर्दलीय विधायकों को पुराने विभाग मिल सकते हैं
JDU को शिक्षा, जल संसाधन विभाग, योजना एवं विकास विभाग, ऊर्जा विभाग, कल्याण विभाग, सहकारिता विभाग, आपदा और जनसंपर्क विभाग दिए जा सकते हैं। इसके अलावा, कांग्रेस को राजस्व एवं भूमि सुधार, लोक अभियंत्रण विभाग, मद्य निषेध विभाग, पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग भी दिया जा सकता है। हम और निर्दलीय को उनके पुराने विभाग फिर से सौंपे जा सकते हैं।

नई कैबिनेट के संभावित चेहरे

राजद: तेजप्रताप यादव, आलोक कुमार मेहता, अनिता देवी, जितेन्द्र कुमार राय, चन्द्रशेखर, कुमार सर्वजीत, बच्चा पांडेय, भारत भूषण मंडल, अनिल सहनी, शाहनवाज/शमीम अहमद, अख्तरुल इस्लाम शाहीन/मो. नेहालुद्दीन, रामचंद्र पूर्वे/समीर महासेठ, भाई वीरेन्द्र/सुरेन्द्र यादव/ललित यादव, कार्तिक सिंह/सौरभ कुमार, वीणा सिंह/सुनील सिंह, रणविजय साहू/मंजू अग्रवाल, संगीता कुमारी/सुरेन्द्र राम

जदयू: विजय कुमार चौधरी, विजेन्द्र प्रसाद यादव, अशोक चौधरी, उपेन्द्र कुशवाहा, शीला कुमारी, श्रवण कुमार, मदन सहनी, संजय कुमार झा, लेशी सिंह, सुनील कुमार, जयंत राज, जमां खान

कांग्रेस: मदन मोहन झा/अजीत शर्मा, शकील अहमद खान, राजेश कुमार

हम: संतोष कुमार सुमन

निर्दलीय: सुमित कुमार सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News