बिहार की जानलेवा वाहन चेकिंग ! बिना हेलमेट देख पुलिस ने पीठ पर सटाक से मारी लाठी !

BIHAR ME JAANLEWA VAAHAN CHEKING

सार
जमुई पुलिस इन दिनों चर्चा में है. जमुई पुलिस लाठी के बलपर वाहन चेकिंग अभियान चला रही है. वहीं, इस तरीका से कर रहे वाहन चेकिंग से एक स्कूटी चालक सड़क पर गिर जाता है और घायल हो जाता है.

Bihar : जमुई पुलिस ने गुरुवार को वाहन चेकिंग अभियान चलाया। पुलिस की इसी कार्रवाई का एक वीडियो सामने आया है। इसमें पुलिस वाले बिना हेलमेट स्कूटी चला रहे 2 युवकों को रुकने के लिए कहते हैं। वो गाड़ी नहीं रोकते तो पहले एक कॉन्स्टेबल उनके पीछे डंडा लेकर दौड़ता है। उन्हें डंडे से पीटता है। इसके बाद दूसरा कॉन्स्टेबल चलती गाड़ी से धक्का मारकर दोनों को नीचे गिरा देता है। जब कॉन्स्टेबल को ये एहसास होता है कि कोई उसका वीडियो बना रहा है। तो वो सीधे वहां से निकल जाता है।

पुलिस की इस कार्रवाई में दोनों युवकों को मामूली चोट आई है। गाड़ी को भी थोड़ा नुकसान हुआ है। लेकिन जिस तरह से पुलिस वालों ने युवकों को चलती गाड़ी से धक्का दिया। इससे उनकी जान पर भी बन सकती थी।

दरअसल जमुई जिला प्रशासन ने मेगा ड्राइव चलाने की घोषणा की थी। वाहन चेकिंग को सफल बनाने के लिए डीटीओ कुमार अनुज और जिला मुख्यालय अभिषेक कुमार सिंह जो खुद ही सड़क पर उतर गए। चार पहिया और दो पाहिया चालक में हड़कंप मच गया है।

जमुई परिवहन पदाधिकारी बोले- जांच के बाद लेंगे एक्शन
इधर, जमुई परिवहन पदाधिकारी कुमार अनुज ने कहा कि ये तो बहुत दुखद बात है. इसपर बहुत कड़ी कार्रवाई की जाऐगी. कहा कि हमारा मूल उद्देश्य है कि लोंगो को बड़े चोट से बचाना है. बड़े चोट एक्सीडेंट से होते हैं. जमुई जिले में एक साल के अंदर दुर्घटना में 145 लोगों की मौत हो चुकी है. अभी जो भी हुआ है वो गलत है. जिन लोगों ने ऐसा किया है उनके खिलाफ जांच के बाद एक्शन लिया जाएगा. इस घटना पर जमुई एसपी डॉ. शौर्य सुमन ने कहा कि इस मामले को हमलोग देखेंगे. अगर ऐसी कोई बात आएगी तो उस संबंध में भी कार्रवाई होगी.

स्कूटी सवार युवकों को मुंह ओर हाथ में चोट आई
अमूमन किसी अपराधी को चेज करने के दौरान भी पुलिस ऐसा नहीं करती, लेकिन वाहन जांच के नाम पर जानलेवा सख्ती को लेकर अब जिले भर के लोगों में अलग-अलग विचार बनने लगे हैं. इस घटना में स्कूटी सवार युवकों को मुंह ओर हाथ में चोट भी आई है. घायल युवक की पहचान बरहट थाना क्षेत्र के जवातरी गांव निवासी संतोष कुमार के रूप में किया गया है. संतोष कुमार ने बताया कि वह सदर अस्पताल से अपने बीमार रिश्तेदार से मिलकर लौट रहा था. इसी दौरान उसके साथ यह हादसा हुआ है. बताते चलें कि वाहन जांच अभियान के दौरान जिला प्रशासन के कुछ अधिकारी और उनके ड्राइवर आदि भी बिना सीट बेल्ट के भी देखे गए.

कहते हैं एसपी
एसपी डा शौर्य सुमन ने कहा कि मामले की जानकारी मिली है, मौके पर लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच कराई जा रही है. अगर पुलिस जवानों की गलती सामने आती है उनपर कठोर कार्रवाई की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News