BSNL बेचेगी 13,000 मोबाइल टावर, कंपनी का 4,000 करोड़ रुपए जुटाने का मकसद, तैयारी में केंद्र सरकार !

BSNL TOWER TOP SELL

सार
बीएसएनएल अपने 13,000 से अधिक मोबाइल टॉवर्स बेचने जा रही है. ऐसे में ये बात हजम नहीं हो रही है कि अपने मोबाइल टॉवर्स बेचकर बीएसएनएल कैसे बेहतर सेवा देगी और अन्य कंपनियों से प्रतिस्पर्धा करेगी.

रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने एक दिन पहले 25 अगस्त को घोषणा है कि देश में 12 अक्टूबर 2022 को 5G सर्विस लांच की जाएगी। जहां एक ओर देश में प्राइवेट टेलीकॉम ऑपरेटर 5G सर्विस लांच करने की तैयारी में हैं वहीं दूसरी ओर देश की सरकारी टेलीकॉम ऑपरेटर BSNL अभी तक ग्राहकों को 4G सर्विस तक नहीं दे पा रही है। यही नहीं BSNL ग्राहकों को देश के प्रमुख शहरों तक में भी सही से नेटवर्क नहीं प्रोवाइट कर पा रही है। इसी बीच खबर आ रही है कि केंद्र सरकार 2025 तक BSNL के 13,567 मोबाइल टावर बेचने जा रही है, जिसके जरिए सरकार ने 4 हजार करोड़ रुपए जुटाना चाहती है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सरकार के द्वारा BSNL और MTNL के टावर बेचने के लिए KPMG को फाइनेंशियल एडवाइजर के तौर पर नियुक्त किया गया है। इसके बाद अब सरकार BSNL के टावर्स को चरणबद्ध तरीके से बेचेगी।

BSNL के पास देश में सबसे ज्यादा मोबाइल टावर
देश में बीएसएनएल ही अकेली ऐसी टेलीकॉम कंपनी है, जिसके पास इतना बड़ा टावर नेटवर्क है. नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन के तहत BSNL को 13,567 और MTNL को 1350 टावर्स की बिक्री 2025 तक चरणबद्ध तरीके से करनी है. दोनों सरकारी कंपनियों को कुल मिलाकर 14,917 टेलीकॉम टावर्स बेचने हैं.

BSNL को घाटे से उबारने के लिए सरकार इसके लिए टेलीफोनी सर्विसेज को बढ़ावा देना चाहती है. इसके लिए उसने बीएसएनएल के साथ भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क का विलय करने की योजना बनाई है. ये दोनों कंपनियां मिलकर देश के ग्रामीण इलाकों में टेलीफोन सेवा को पहुंचाएंगी और इंटरनेट सेवाओं का विस्तार करेंगी.

BSNL के रिवाइवल के लिए 1.64 लाख करोड़ रुपए की दी गई है मंजूरी
पिछले महीने 27 जुलाई को ही सरकार ने BSNL के रिवाइवल के लिए 1.64 लाख करोड़ रुपए की मंजूरी दी है। केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इसके बारे में बताते हुए कहा था कि इस रिवाइवल पैकेज से BSNL की 4G सर्विस के विस्तार में मदद के लिए स्पेक्ट्रम का आवंटन किया जाएगा।

सरकारी रवैया छोड़कर ठीक से करें काम bsnl
BSNL के रिवाइवल के लिए 1.64 लाख करोड़ रुपए की मंजूरी देने के बाद केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने 4 अगस्त को BSNL के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की थी। इसमें उन्होंने 62 हजार कर्मचारियों को हिदायत दी थी, जिसका एक ऑडियो लीक हुआ है, जिसमें वह ‘सरकारी’ रवैया छोड़कर कर्मचारियों से ठीक से काम करने को कहा था। इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि सरकारी रवैया छोड़कर ठीक से काम करें, वर्ना घर प बैठ जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News