पूर्व मंत्री बंधु तिर्की के आवास समेत देश के 16 ठिकानों पर सीबीआइ का छापा !

bandhu tirckey latest news

सार
आय से अधिक संपत्ति मामले में अपनी विधायकी गवां चुके पूर्व मंत्री बंधु तिर्की के घर पर सीबीआई की टीम ने दबिश दी है. बंधु तिर्की के रांची के मोरहाबादी स्थित आवास और बनहोरा स्थित आवास पर सीबीआई की टीम छापेमारी कर रही है. छापेमारी खेल घोटाले को लेकर चल रही है.

Jharkhand National Games SCAM : झारखंड के बहुचर्चित 34वें राष्ट्रीय खेल घोटाले में तत्कालीन खेल मंत्री बंधु तिर्की के रांची के मोरहाबादी व बनहौरा स्थित आवास में सीबीआइ ने गुरुवार को छापेमारी की। आय से अधिक संपत्ति के मामले में सजा होने के बाद विधानसभा की सदस्यता गंवा चुके बंधु तिर्की फिलहाल दिल्ली में हैं। उनकी सदस्यता खत्म होने के बाद मांडर विधानसभा सीट पर 23 जून को उपचुनाव की घोषणा भी हो चुकी है।

पूरे देश में डेढ़ दर्जन से अधिक ठिकानों पर छापा
जानकारी मिली है कि सीबीआई की छापेमारी सिर्फ बंधु तिर्की के यहां ही नहीं, बल्कि राष्ट्रीय खेल घोटाले में सभी आरोपितों के पूरे देश में डेढ़ दर्जन लगभग 16 से अधिक ठिकानों पर छापा चल रहा है। पटना रेंज के सीबीआई डीआईजी ने बताया कि दिल्ली हेड क्वार्टर से जानकारी मिल पाएगी। हम लोगों ने उन्हें सूचना दे दी है। सीबीआई पटना की टीम द्वारा रांची में छापेमारी की जा रही है।

आयोजन के दौरान घोटाले का है मामला
राष्ट्रीय खेल घोटाले में सीबीआइ की रांची स्थित भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) में 22 अप्रैल को दो अलग-अलग प्राथमिकियां दर्ज की गईं थीं। दोनों ही प्राथमिकियों के अनुसंधानकर्ता सीबीआइ के पटना स्थित एसीबी के दो अधिकारियों को बनाया गया था। 34वां राष्ट्रीय खेल झारखंड में वर्ष 2011 में 22 फरवरी से 26 फरवरी तक हुआ था। इसी आयोजन के दौरान घोटाले का मामला है।

बंधु तिर्की पर यह है आरोप
पूर्व खेल मंत्री बंधु तिर्की पर आरोप है कि उन्होंने धनबाद में दो स्क्वैश कोर्ट के निर्माण में वित्तीय अनियमितता की। स्क्वैश कोर्ट के निर्माण की जिम्मेदारी मुंबई की एक कंपनी जाइरेक्स इंटरप्राइजेज को दी गई थी। कंपनी ने 1,44,32,850 रुपये का एस्टीमेट दिया था। इस प्रस्ताव पर आयोजन समिति के महासचिव एसएम हाशमी और तत्कालीन खेल निदेशक तथा सचिव की अनुशंसा के बाद फाइल तत्कालीन विभागीय मंत्री (खेल मंत्री) बंधु तिर्की के पास भेजी गई थी। बंधु तिर्की ने नीतिगत निर्णय लेते हुए 20 अक्टूबर 2008 को इसे अनुमोदित कर दिया था। इसमें कंपनी को अग्रिम 50 लाख रुपये दिए गए थे, लेकिन बाद में बिना स्वीकृति के भुगतान के कारण वित्तीय अनियमितता की पुष्टि हुई थी।

दर्ज की गई दो एफआईआर
हाईकोर्ट के आदेश पर सीबीआई की ओर से राष्ट्रीय खेल घोटाले से जुड़े मामले में दो एफआईआर दर्ज की गई है। इसमें पहला मामला RC 0242022A001 मेगा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स निर्माण में हुई अनियमितता से जुड़ा है, जो कि अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज है।

वहीं दूसरा मामला RC 0242022A002 है, जो खेल आयोजन से जुड़े घपले घोटाले से जुड़ा है। पहले इस मामले की जांच एंटी करप्शन ब्यूरो कर रही थी। जिसमें बंधु तिर्की गिरफ्तार भी किए गए थे और उनके खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल की गई थी। इस मामले में ब्यूरो ने बंधु तिर्की को प्राथमिक अभियुक्त बनाया था।

बंधु तिर्की रांची जिले के मांडर विधानसभा सीट से विधायक निर्वाचित हुए थे। इसके बाद इन्हें रांची के मोरहाबादी में सरकारी आवास मिला था। छापेमारी की सूचना के बाद पूर्व विधायक के आवास के बाहर मीडिया का जमावड़ा लग गया है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News