मोदी मंच पर थे, CM स्टालिन ने कहा- हम पर हिंदी मत थोपिए

cm stalin on hindi and tamil

Hindi Controversy : तेलंगाना दौरे के बाद पीएम मोदी चेन्नई पहुंचे। जहां जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में 31 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट्स की लॉन्चिंग के दौरान CM स्टालिन ने लैंग्वेज वॉर को नया मोड़ दिया। उन्होंने कहा- पीएम सुन रहे हैं इसलिए मैं अपील करता हूं, हम पर हिंदी मत थोपिए, तमिल को भी हिंदी के बराबर समझिए।

स्टालिन ने PM से की ये मांगें
*CM स्टालिन ने कहा कि जब प्रधानमंत्री तमिलनाडु आए हैं तो मैं उनसे कुछ विशेष अपील करता हूं। हम प्रधानमंत्री से कच्चातीवु द्वीप (श्रीलंका) वापस लाने की अपील करते हैं ताकि हमारे मछुआरे हमारे समुद्र में स्वतंत्र रूप से मछली पकड़ सकें।
*हम नीट परीक्षा का विरोध कर रहे हैं और हमने विधानसभा में एक विधेयक भी पारित किया है। हम पीएम से तमिलनाडु को NEET परीक्षा से छूट देने की अपील करते हैं।
*मैं सरकार से 14,006 करोड़ रुपए की बकाया सेंट्रल GST को हमें वापस करने की अपील भी करता हूं।
*मैं यह निवेदन भी करता हूं कि हाईकोर्ट में तमिल को आधिकारिक भाषा घोषित किया जाना चाहिए।

चेन्नई के रोड शो में गुजराती अंदाज
इसके पहले तमिलनाडु के राज्यपाल आरएन रवि ने चेन्नई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगवानी की। इस दौरान डीएमके नेता और तमिलनाडु के मंत्री दुरईमुरुगन और डॉ. के पोनमुडी भी मौजूद थे। पीएम मोदी इसके बाद रोड शो में शामिल हुए। रोड शो में लोग गुजराती पोशाक पहनकर आए।

इसके बाद वे सीधे इन्फ्रास्ट्रक्चरल प्रोजेक्ट्स की लॉन्चिंग के लिए जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम पहुंचे। इस दौरान DMK के नेताओं ने पीएम मोदी का जोरदार स्वागत किया। वे चेन्नई में 31 हजार करोड़ से अधिक की लागत के विकास कार्यों का उद्घाटन एवं शिलान्यास करने आए हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News