लखीमपुर खीरी गैंगरेप हत्या: दो ने रेप किया, बाकी ने साथ दिया, 6 अरेस्ट, एक आरोपी को मुठभेड़ में गोली लगी

lakhimpuri rape case

सार
लखीमपुर खीरी में रेप के बाद दलित बेटियों की हत्या गला दबाकर हुई थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लड़कियों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या और इसके बाद में लटकाने की पुष्टि हुई है।

लखीमपुर में बुधवार शाम करीब 6 बजे दो नाबालिग लड़कियों के शव पेड़ से लटके मिले। एक 7वीं और दूसरी 10वीं की छात्रा थी। मां ने आरोप लगाया कि कुछ लड़के बाइक से बेटियों की अगवाकर ले गए, रेप के बाद मर्डर कर दिया।

पुलिस जांच के लिए पहुंची तो लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। एसपी संजीव सुमन को जाना पड़ा, लेकिन ग्रामीण उनसे भी भिड़ गए। स्थिति यह आ गई कि यूपी सरकार ने रातोंरात IG लक्ष्मी सिंह को लखीमपुर भेजा, जो रातभर गांव में ही रुकी रहीं।


करीब 15 घंटे बाद गुरुवार सुबह एसपी संजीव सिंह मीडिया के सामने आए। खुद कहा कि ये प्रेस कॉन्फ्रेंस शॉर्ट नोटिस पर है। बोले- निघासन में हुई इस घटना में लड़कियों को जबरदस्ती नहीं ले जाया गया था। आरोपी बहला-फुसलाकर उन्हें ले गए। रेप किया और जब लड़कियां शादी की बात पर अड़ीं तो मर्डर कर दिया।

लखीमपुर खीरी डबल मर्डर मामले में बड़ी बातें

• लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri Murder) में दो नाबालिग दलित बहनों की हत्या के मामले में पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने छोटू, जुनैद, सुहैल, हफीजुल रहमान, करीमुद्दीन और आरिफ को पकड़ा है. पुलिस ने मामले को सुलझाने का दावा करते हुए कहा है कि इसमें शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

• गिरफ्तार किए गए छह लोगों में मृतक लड़कियों के पड़ोस का एक युवक भी शामिल है. बताया जा रहा है कि इसने कथित तौर पर लड़कियों को तीन अन्य लोगों से मिलवाया था, लेकिन वह घटना स्थल पर नहीं था.

• पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने कहा कि अपराध को अंजाम देने वाले तीन और छिपाने की कोशिश में उनकी मदद करने वाले दो दूसरे गांव के रहने वाले हैं. छोटू के अलावा सभी लड़के लखीमपुर खीरी के लालपुर गांव के रहने वाले थे. छोटू जो लड़कियों का पड़ोसी था उसने दोनों लड़कियों को इन लड़कों से मिलवाया था.

• यौन अपराधों के खिलाफ बच्चों के संरक्षण (POCSO) अधिनियम के अलावा, सभी छह पर हत्या और बलात्कार का मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने बताया कि जबरन अपहरण नहीं किया गया था. दोस्त थे, इसलिए उन पर वो भरोसा करती थीं. जबकि उनकी मां ने आरोप लगाते हुए कहा था कि तीन युवकों ने उनकी बेटियों को जबरन अगवा किया था.

• दोनों सगी बहनों का पोस्टमार्टम (Post Mortem) तीन डॉक्टरों का पैनल कर रहा है. एसपी संजीव सुमन ने कहा कि इसकी वीडियोग्राफी की जाएगी, और पीड़ितों के परिवार के कुछ सदस्य अंदर होंगे. पुलिस (UP Police) ने भरोसा दिलाया है कि हम वह सब कुछ करेंगे जो परिवार चाहता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News