जमशेदपुर में विमान सेवा शुरु करने की मांग तेज, आदित्यपुर में भी बनना था हवाई अड्डा !

jamshedpur airport news

Jamshedpur News : सिंहभूम चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के उपाध्यक्ष मुकेश मित्तल ने शनिवार को टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन को पत्र भेजा है, जिसमें उन्होंने सोनारी एयरपोर्ट से एयर इंडिया की 70 से 90 सीटर वाली छोटी विमान सेवा शुरू करने की अपील की है। बकौल मुकेश मित्तल, जमशेदपुर को टाटा समूह के संस्थापक जेएन टाटा ने अपनी दूरदर्शी से सजाया। समूह के कई चेयरमैन व टाटा स्टील के प्रबंध निदेशकों ने इसे आगे बढ़ाया। लेकिन वर्तमान समय में जमशेदपुर एक टापू बनकर रह गया है। आपात स्थिति में हवाई सेवा के लिए शहरवासियों को रांची या कोलकाता पर निर्भर रहना पड़ता है। इसमें समय भी काफी बर्बाद होता है। जिसके कारण कई शहरवासी या उद्यमी जमशेदपुर से पलायन कर रहे हैं या वे यहां आना नहीं चाहते हैं। टाटा संस ने एक बार फिर एयर इंडिया का अधिग्रहण कर लिया है। ऐसे में जमशेदपुर से छोटे विमान सेवा शुरू की जाए ताकि स्थानीय निवासियों को इसका लाभ मिल सके।

सोनारी एयरपोर्ट से पहले थी विमान सेवा की सुविधा

इससे पूर्व टाटा स्टील के पूर्व वाइस प्रेसिडेंट व टिनप्लेट के पूर्व एमडी आरएन शर्मा ने कहा कि जमशेदपुर से 40-50 सीटर का विमान उड़ चुका है, तो अब भी उड़ सकता है। इसके लिए सभी को गंभीरता से प्रयास करना होगा। वहीं फोरम के अध्यक्ष एके श्रीवास्तव ने कहा कि जमशेदपुर से ज्यादा नहीं 20-22 सीटर का प्लेन रांची के लिए भी उड़ने लगे, तो शहरवासियों को काफी सुविधा होगी। अब जब एयर इंडिया टाटा स्टील के पास दोबारा आई है, तो जमशेदपुर के लोगों में एक उम्मीद जगी है कि हमें भी इसका लाभ मिलेगा।

आदित्यपुर में बनना था हवाई अड्डा : श्रीवास्तव
एके श्रीवास्तव ने अपने संबोधन में कहा कि 1970-71 में आदित्यपुर का मास्टर प्लान बना था, उसमें औद्योगिक क्षेत्र के लिए सीतारामपुर डैम और आदित्यपुर-सरायकेला रोड के बायीं ओर हवाई अड्डा बनाने का प्रस्ताव था। किसी कारणवश यह नहीं हो सका, लेकिन इसके बाद कांड्रा व चांडिल के बीच, तो कभी आदित्यपुर-गम्हरिया में हवाई अड्डा बनाने की कवायद हुई। अब धालभूमगढ़ में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाने का प्रयास हो रहा है। वैसे सोनारी स्थित जमशेदपुर हवाई अड्डा से 1987-88 में वायुदूत की 22 सीटर विमानसेवा चलती थी। इसके बाद एयर डेक्क्न व एमडीएलआर की विमानसेवा भी चली।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News