सीएम हेमंत सोरेन को ईडी ने भेजा समन, जेएमएम ने कहा – यह बदले की राजनीति !

cm soren in trouble

सार
सीएम हेमंत सोरेन की मुश्किले बढ़ सकती हैं. ईडी ने खनन मामले में हेमंत सोरेन को समन भेजा है (ED summons Jharkhand CM Hemant Soren). ईडी ने हेमंत सोरेन को पूछताछ के लिए गुरुवार को बुलाया है.

Jharkhand News : सीएम सोरेन की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ती दिख रही हैं। सीएम को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अवैध खनन और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में समन भेजा है। ईडी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को कल यानी 3 नवंबर को साढ़े 11 बजे पूछताछ के लिए बुलाया है। बता दें कि ईडी लंबे से मनी लॉड्रिंग मामले की जांच कर रही है। मुख्यमंत्री को समन भेजने के साथ ही ईडी ने झारखंड पुलिस महानिदेशक को इस सिलसिले में एक पत्र लिखा है। इसमें तीन नवंबर को ईडी कार्यालय में सुरक्षा का विशेष प्रबंध करने का अनुरोध किया गया है।

ईडी के पास कई अहम सबूत होने का दावा

सूत्रों की मानें तो सीएम के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के साहेबगंज स्थित आवास पर छापेमारी के दौरान कई अहम सबूत मिले हैं। ईडी सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री के बैंक खाते से जुड़ा चेक बुक मिला था। 2 चेक बुक में मुख्यमंत्री के हस्ताक्षर होने की बात कही जा रही है। सीएम के करीबी प्रेम प्रकाश के हरमू स्थित आवास पर छापेमारी के दौरान ईडी ने 2 एके-47 राइफल और 60 गोलियां मिली थी। जब्त हथियार जिन 2 कांस्टेबल के थे, वे मुख्यमंत्री आवास की सुरक्षा में तैनात थे।

ईडी ने पंकज मिश्रा के रिम्स में भर्ती रहने के दौरान फोन पर अधिकारियों से बात करने और मुख्यमंत्री के नाम पर उन्हें डराने का मामला भी पकड़ा था. इस मामले में फोन से बात कराने के आरोप में इडी ने पंकज मिश्रा के चालक व उसके एक करीबी को पकड़ा था. ईडी ने साहिबगंज में अवैध खनन की जांच के दौरान इस बात के भी सबूत जुटाये हैं कि पंकज मिश्रा व उसके सहयोगी अवैध खनन के मामले में जिले के अधिकारियों को मुख्यमंत्री का नाम लेकर ही डराते थे.

साथ ही मुख्यमंत्री के राजनीतिक रसूख का इस्तेमाल करते हुए अधिकारियों को कार्रवाई करने से रोका जाता था. साहिबगंज में छापेमारी के दौरान इडी को पंकज मिश्रा के घर से एक लिफाफा मिला था. इसमें मुख्यमंत्री के बैंक खाते से जुड़ा चेकबुक था. इसमें से दो चेकबुक हस्ताक्षरित थे. हालांकि, इसमें राशि का उल्लेख नहीं किया गया था. अवैध खनन के मामले में गिरफ्तार प्रेम प्रकाश ने पूछताछ के दौरान अपने राजनीतिक संबंधों का भी उल्लेख किया था.

अवैध माइनिंग मामले में गिरफ्तार सीए सुमन कुमार ने भी पूछताछ के दौरान बरामद 17.49 करोड़ नकद में से अधिकांश राशि पूजा सिंघल के माध्यम से मिलने के बात स्वीकार की थी. इडी को जांच के दौरान इस बात की जानकारी मिली थी कि इसमें अवैध खनन से मिली राशि भी शामिल है. पूछताछ के दौरान मुख्यमंत्री से इन सभी मुद्दों से जुड़े सवाल पूछे जा सकते हैं.

ईडी कुछ बड़े अफसरों को भी नोटिस भेज कर पूछताछ के लिए बुला सकता है. पिछले िदनों गिरफ्तार हुए आरोपियों से पूछताछ के दौरान इन अफसरों के नाम सामने आये थे.

ईडी कार्यालय की सुरक्षा बढ़ाने के लिए पत्र
सूचना है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी ) की ओर से हिनू एयरपोर्ट रोड स्थित अपने कार्यालय की सुरक्षा बढ़ाने के लिए पुलिस मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की गयी है. सूत्रों के मुताबिक ईडी ने पुलिस मुख्यालय को इस बारे में पत्र भी भेजा है. पत्र की प्रति केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को भी दी गयी है. हालांकि न तो प्रवर्तन निदेशालय ने और न ही पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों ने इस बात की आधिकारिक रूप से पुष्टि की है.

जेएमएम ने कहा – यह बदले की राजनीति
ईडी की ओर से भेजे गए समन पर जेएमएम ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. जेएमएम के मनोज पांडे ने सामाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि ईडी अपना काम करेगी. अन्याय होने पर हम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे. पता नहीं ईडी सीएम को तलब कर सकती है क्या? अगर ऐसा है, तो सीएम कानूनी विशेषज्ञों से सलाह लेने के बाद जवाब देंगे. क्या उन आरोपों के लिए उन्हें समन करना कानूनी है? अगर ऐसा है तो कई मामलों में पीएम को भी तलब किया जाना चाहिए. यह बदले की राजनीति है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News