घड़ी के जरिए फास्टैग स्कैन करके अकाउंट से रकम उड़ाने का दावा ! ये वीडियो खूब वायरल हो रहा है !

fast tag viral video

FASTag Viral Video: टोल प्लाजा पर लोगों को पहले टोल देने के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता था. इसी समस्या से निजात दिलाने के लिए सरकारी की ओर से FASTag की शुरुआत की गई थी. FASTag की मदद से टोल प्लाजा पर बिना रुके ही टोल टैक्स दिया जा सकता है. ऐसे में सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे दिख रहा है कि एक बच्चा गाडी से विंड स्क्रीन साफ़ करने आता है और अपनी घड़ी से FASTag को स्कैन करता है और पैसे कि धोका धड़ी करता है !

क्या हो रहा है वायरल : सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें देखा जा सकता है कि कार का शीशा कपड़े से साफ करते हुए एक बच्चा फास्टैग के स्कैन कोड को स्मार्ट वॉच से स्कैन करता है। इसके बाद वह बच्चा वहां से फरार हो जाता है। वीडियो के आखिर में कार चालक बताता है कि उस बच्चे ने कार साफ करने के बहाने स्कैम किया। उसने फास्टैग में जमा पैसे अपनी स्मार्ट वॉच से स्कैन कर निकाल लिए।


पड़ताल

वायरल वीडियो का सच जानने के लिए फास्टैग का ऑफिशियल सोशल मीडिया अकाउंट चेक किया। फास्टैग के अकाउंट पर हमें वायरल वीडियो के रिप्लाई में एक पोस्ट मिला।

फास्टैग ने लिखा- NETC फास्टैग का लेनदेन केवल रजिस्टर्ड व्यापारी (टोल और पार्किंग प्लाजा ऑपरेटर) ही कर सकते हैं, जिन्हें उनकी जियो-लोकेशन से NPCI ने फास्टैग व्यवस्था में शामिल किया है। NETC FASTag पर कोई भी अनधिकृत डिवाइस ट्रांजैक्शन नहीं कर सकती है। फास्टैग पूरी तरह सुरक्षित है।
पड़ताल के दौरान हमें Paytm के ऑफिशियल अकाउंट पर भी इससे जुड़ा एक पोस्ट मिला।

Paytm ने वीडियो को फेक बताते हुए लिखा- एक वीडियो में Paytm फास्टैग को लेकर गलत सूचना फैलाई जा रही है। NETC दिशानिर्देशों के अनुसार, FASTag भुगतान केवल रजिस्टर्ड व्यापारी ही कर सकते हैं। इसकी कई राउंड में टेस्टिंग की गई है। पेटीएम फास्टैग पूरी तरह सुरक्षित है।
बता दें, पड़ताल के दौरान डिवाइस स्कैन से फास्टैग स्कैम की अब तक हमें कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली। वहीं, फास्टैग का भी कहना है कि यह फर्जीवाड़ा संभव नहीं है, फास्टैग पूरी तरह सेफ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News