Unique Wedding: ससुर ने करवाई विधवा बहू की शादी, बोला- मेरी नहीं थी कोई बेटी, अपने पापा से बढ़कर मुझे माना

sasur me karai vidhwa bahu ki shadi

सार
भागलपुर में एक ससुर ने अपनी विधवा बहू की शादी करा मिसाल पेश की। पिता की तरह ही कन्यादान किया और घर से विदा भी। इस शादी की चर्चा अब चारों ओर है। हर कोई ससुर के उठाए गए कदम की सराहना कर रहा है।

Unique Wedding: विधवा हो चुकी बहू को बेटी के रूप में रिश्तों के पलड़ों पर तौलते हुए ससुर ने हबू की दूसरी शादी करा दी. जिसके वजह से पतझड़ के बाद बहू की बीरान जिंदगी में फिर से बहार आ सके. यह पूरा मामला घोघा थाना क्षेत्र के जसीडीह से सामने आ रहा है. जसीडीह निवासी अनील मंडल ने पिता का फर्ज निभाते हुए विधवा हो चुकी अपने पुत्रवधू अंजू देवी की दूसरी शादी करवाई है. ऐसे काम कर के पिता ने मिसाल कायम की है. साथ ही ऐसी स्थिति में समाज को नई सोच पर अमल करने का संदेश भी दिया है.

धूम-धाम से हुआ विवाह संपन्न
इसी वजह से लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है. सभी लोग इस काम की सराहना कर रहे है. इस पहल के बाद से वर्ष 2022 का विवाह मपबूर्त अस-पास के क्षेत्रों में खास बन गया. विवाह धूम-धाम से संपन्न हुआ. उसके बाद ग्रामीणों को भोज भी करवाया गया.

बहू को माना अपनी बेटी
अनिल मंडल (60), अपनी पत्नी मंजू देवी (55), पुत्र रविन्द्र कुमार (30) और बहू अंजू देवी (28) के साथ खुशी-खुशी अपना जीवन गुजार रहे थे. अनिल को सिर्फ एक पुत्र था, पुत्री नहीं थी. बीते वर्ष 3 जून 2020 को पत्नी मंजू देवी का देहांत हो गया. इसके बाद 27 जुलाई 2020 को पुत्र रविन्द्र कुमार की भी हृदयगति रूकने से मौत हो गई. इस प्रकार दो-दो घटनाओं से अनिल मंडल विचलित हो गए. बहू भी मानसिक रूप से परेशान और गुमसुम रहने लगी. समय बीतने के साथ धीरे-धीरे जख्मों पर मरहम भी लगता गया. दो वर्षों में स्थिति काफी हद तक सामान्य हो गई. दूसरी ओर अनिल को पुत्री नहीं होने के वजह से वो बहू को ही अपनी पुत्री मानने लगे और अपना कर्तव्य का निर्वहन करते रहे.

भविष्य का सोचकर लिया बहू की शादी का निर्णय
बहु के एकाकीपन और भविष्य के बारे में सोचते-सोचते ससुर अनिल ने शादी कराने का निर्णय ले लिया और शादी कराने को लेकर प्रयासरत रहने लगे. अनिल का प्रयास भी बेकार नही गया. अंतत: अपने ही रिश्तेदार में योग्य लड़का मिल गया. बीते 14 मई को बटेश्वर स्थान में आठगॉवा निवासी जयराम मंडल के पुत्र निर्मल राज (32) के साथ बहू अंजू (30) की शादी विधि विधान के साथ कर दी. संपूर्ण वैवाहिक कार्यक्रम में कन्या पक्ष की ओर से ससुर अनिल मंडल ने भूमिका निभाई.

अरमान हुआ पूरा
ससुर सह पिता अनिल मंडल ने जानकारी देते हुए बताया की मुझे बेटी नही है, लेकिन बहू ने सदैव मुझे अपने सगे पिता से भी बढ़कर ज्यादा मान सम्मान दिया। बहू से ज्यादा बेटी के रूप में मेरा अरमान पूरा किया मैं काफी खुश हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News