जमशेदपुर में हनीट्रैप का खुलासा, अधेड़ उम्र के लोगों को फंसाकर पैसे ऐंठती है युवती !

Honeytrap exposed in Jamshedpur

सार
खूबसूरत बाला के चक्‍कर में घनचक्‍कर, बेचारा बन थाने का चक्‍कर काट रहे अधेड़ की कहानी पढ़कर आप भी रखें द‍िल पर काबू

Jamshedpur Honey trapping Case : जमशेदपुर के सोनारी निवासी 55 वर्षीय एक अधेड़ व्यक्ति हनी ट्रैप के चक्कर में ऐसे फंसे कि 15 हजार रुपए गंवाने पड़े। जबतक उन्हें इस बात का पता चलता, तबतक काफी देर हो चुकी थी। इंटरनेट मीडिया के चक्कर में यह अधेड़ नीलम गुप्ता नामक युवती को दिल दे बैठे। फेसबुक से लेकर व्हाट्सएप पर दिल की बातें होने लगी। एक साथ जीने-मरने की कसमें खाए जाने लगे। प्यार का खुमार ऐसा कि अधेड़ व्यक्ति ने अपने सभी राज खोलने दिए। युवती को जब लगा कि प्रेमपाश में शिकार फंस चुका है तो लगी ब्लैकमेल करने। शुरुआत में तो साहब को लोक लाज का डर लगा। लेकिन जब धमकी दी जाने लगी तो फिर सोनारी थाना ही आसरा दिखा। पुलिस मामले की जांच कर रही है। एक महीने पहले सोनारी का ही एक और युवक को आभासी (वर्चुअल) प्रेमिका ने अपने प्रेम जाल में फंसाकर तीन लाख रुपए उड़ा लिए थे।

प्यार के जाल में फंसाकर करती है ब्लैकमेल

दरअसल, 24 अप्रैल को नीलम गुप्ता नामक एक युवती ने सोनारी के व्यक्ति को उनके फेसबुक मैसेंजर पर वीडियो काल किया। सामने आकर्षक नैन-नक्श वाली युवती को देखकर वे पिघल गए और उनका बूढ़ा दिल मचल गया। धीरे-धीरे युवती ने उन्हें अपने विश्वास में लेकर उनसे उनका व्हाट्सएप नंबर ले लिया। व्हाट्सएप में वीडियो काल के दौरान युवती ने बातों बातों में खुद को नग्न कर व्यक्ति को भी नग्न होने को कहा। नग्न होते ही युवती ने वीडियो बना लिया और दूसरे दिन से ब्लैकमेल करने लगी। पहले तो अधेड़ ने युवती के कहे अनुसार दो हजार रुपये उसके बताए खाते में ट्रांसफर कर दिए। इस तर शुरू हो गया ब्लैकमेलिंग का सिलसिला। फिर 26 अप्रैल को उन्हें एक साइबर ठग ने युट्यूब का कर्मचारी बनकर फोन किया और कहा कि युट्यूब को उनका एक न्यूड वीडियो अपलोड करने का रिक्वेस्ट मिला है। अगर वे वीडियो को अपलोड होने से रोकना चाहते हैं तो उन्हें रुपये देने होंगे। पहले तो उन्होंने 6999 रुपये जमा करवाए। फिर दूसरी बार में सात हजार रुपये और जमा करवाए। ठगों ने उनसे और रुपये ऐंठने का प्रयास किया। जब प्यार के फेर में धोखा का एहसास हुआ, तो पुलिस की शरण में जाने में ही भलाई समझी। साइबर थाना में लिखित शिकायत दर्ज करने के बाद पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News