Ishwar Pandey Retirement: संन्यास लेते हुए बोले- अगर धोनी एक मौका दे देते तो मेरा करियर कुछ और होता !

ishwar pandey on dhoni

Ishwar Pandey Retirement : रेवांचल एक्सप्रेस… के नाम से मशहूर मध्यप्रदेश के तेज गेंदबाज ईश्वर पांडेय ने इंटरनेशनल और डोमेस्टिक क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। हालांकि, वे रोड सेफ्टी जैसी इंटरनेशनल लीग में खेलते रहेंगे। वे जून में पहली बार रणजी ट्रॉफी जीतने वाली मध्यप्रदेश टीम का हिस्सा थे।

33 वर्षीय ईश्वर पांडेय देश के उन बदनसीब क्रिकेटरों में से एक हैं, जिन्हे इंडिया की इंटरनेशनल क्रिकेट बतौर तेज गेंदबाज टीम में तो शामिल किया गया, लेकिन उन्हें डेब्यू मैच का कैप तक नसीब न हो सका. ईश्वर 2014 में पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी के नेतृत्व वाली भारतीय टीम में न्यूजीलैंड दौरे के लिए चुने गए थे, लेकिन उन्हें डेब्यू करने का मौका नहीं मिला.

रीवा रियासत न्यूज़ से बात करते हुए 6 फीट 2 इंच के ईश्वर ने उस दर्द को साझा करते हुए कहा, ‘अगर धोनी एक मौका दे देते तो मेरा करियर कुछ और होता’. उन्होंने कहा, ‘तब मैं 23-24 साल का था और मेरी फिटनेस भी बहुत अच्छी थी. लेकिन एमएस धोनी ने मुझे चांस ही नहीं दिया, अगर वे चांस देते तो मैं देश के लिए अच्छा कर जाता तो निश्चित ही मेरा करियर कुछ और होता.’

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Ishwar pandey (@ishwar22)

चेन्नई टीम के लिए दो सीजन खेले
ईश्वर ने घरेलू, आईपीएल समेत कई लीगों में आधा दर्जन टीमों के लिए क्रिकेट खेला है. उन्होंने मध्य प्रदेश, सेंट्रल जोन, इंडिया ए, चेंन्नई सुपर किंग्स, पुणे वॉरियर्स और राइजिंग पुणे सुपर जाएंट्स के लिए भी खेला है. वह चेन्नई सुपर किंग्स के साथ दो आईपीएल सीजन तक जुड़े रहे. इस दौरान उन्हें धोनी और कोच स्टीफन फ्लेमिंग का मार्गदर्शन मिला था.

रणजी ट्रॉफी 2022 में प्रदर्शन
मैच: 3
विकेट: 11

धोनी से एक मौका मिलने की उम्मीद थी
संन्यास के बाद ईश्वर ने मीडिया से कहा कि महेंद्र सिंह धोनी यदि उन पर थोड़ा भरोसा दिखाते और एक मौका देते तो उनका करियर कुछ और होता. ईश्वर ने खुलकर कहा कि जब उनकी उम्र 23-24 साल की थी, तब उनकी फिटनेस भी शानदार थी और वह खेल भी अच्छा रहे थे. बस धोनी से एक मौका मिलने की उम्मीद थी.

ईश्वर पांडे ने करियर में कुल 75 फर्स्ट क्लास मैच खेले, जिसमें 25.92 की बेहतरीन औसत से 263 विकेट लिए हैं. उन्होंने करियर में कुल 71 टी20 मैच खेले. इसमें उन्होंने 68 विकेट झटके हैं. ईश्वर पांडे ने IPL में कुल 25 मैच खेले, जिसमें 18 विकेट लिए हैं.

युवाओं को मौका देने को लिया संन्यास
अपने संन्यास पर इस गेंदबाज ने कहा- मैंने युवाओं को मौका देने के लिए संन्यास लिया है। काफी टाइम से IPL नहीं खेला है, मुझे ऐसा लगा कि फैमिली को टाइम दूं और बाहर की लीग खेलूं। मुझे लगा कि मुझे IPL खेलना नहीं है तो मैं क्यों किसी बच्चे की जगह खा रहा हूं। इससे अच्छा है मेरी जगह कोई नया लड़का खेले और इंडियन टीम तक पहुंचे।

आधा दर्जन टीमों के लिए खेले
ईश्वर ने डोमेस्टिक और लीग क्रिकेट में आधा दर्जन टीमों के लिए गेंदबाजी की। उन्होंने मध्यप्रदेश, सेंट्रल जोन, इंडिया ए, चेंन्नई सुपर किंग्स, पुणे वारियर्स और राइजिंग पुणे सुपर जाएंट्स के लिए क्रिकेट खेला। ईश्वर ने डोमेस्टिक करियर में एक हजार से ज्यादा रन भी बनाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News