Jharkhand News: कोडरमा में दबंगों ने बंधक बनाकर ढाह दिया घर, खाना-पानी के लिए मोहताज परिवार !

KODERMA NEWS

Jharkhand News: झारखंड के कोडरमा जिले में एक शर्मनाक घटना सामने आई है। जमीन पर कब्जे के लिए दबंगों ने एक परिवार को उजाड़ दिया है। उसक पूरे घर को क्षतिग्रस्त कर मलबा में तब्दील कर दिया है। घर में कुछ भी सुरक्षित नहीं बचा है। दबंगों ने पूरे परिवार को बंधक बनाकर इस घटना को अहले सुबह अंजाम दिया। घर में छोटे-छोटे बच्चे भूख से बिलख रहे हैं। इस परिवार के पास न तो अनाज है और ना ही खाना पकाने के लिए कोई बर्तन। घर में कई महिलाएं हैं, जिन्हें शौच तक करने के लिए जगह नसीब नहीं है। दबंगों के दहशत के आगे कोई पीड़ित परिवार की मदद के लिए आगे नहीं आ रहा है। प्रशासन भी मूकदर्शक बना हुआ है।

परिवार को बंधक बना दिया घटना को अंजाम
तिलैया थाना से महज 500 मीटर दूर अहले सुबह करीब 100 दबंगों ने प्रीति देवी पति रंजीत सिंह के घर में घुसकर तोड़फोड़ की। घर की दीवार व छतों को ढाह दिया। किसी तरह का प्रशासनिक नोटिस न प्रशासनिक अमला। नियम कानून को अपने हाथ में लेकर दबंग खुद ही ऐसी कार्रवाई पर उतर गए। परिवार के लोगों को घर में ही बंधक बनाकर रखा। दो-तीन घंटे में घर मलबे में तब्दील हो गया। उजाला होने पर पीड़ित परिवार ने एनएच पर धरना देना शुरू कर दिया। इसके बाद थाना प्रभारी व सीओ घटनास्थल पर पहुंचे। इस बीच रांची जा रहे भाजपा जिलाध्यक्ष नितेश चंद्रवंशी भी सड़क जाम देखकर कुछ देर रुके। इस करतूत को शर्मनाक बताया। दबंगों पर कार्रवाई करने की मांग की। फिर चले गए।

थाने में बिठाकर रखा, दबंगों ने दिखाई दबंगई
दबंगों की दबंगई यहीं खत्म नहीं हुई। प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए पीड़ित परिवार को पुलिस थाने लेकर गई। प्रीति देवी और उनके घरवालों के अनुसार, पुलिस ने घंटों थाने में बिठाकर रखा। इस बीच दूसरे पक्ष के लोगों ने पुन: पीड़ित के घर में घुसकर बाकी बचे सामन को भी नष्ट कर दिया। यानी बचा खुचा भी खत्म हो गया। पुलिस और दबंगों के रवैये को देखते हुए लोग कह रहे कि दोनों की मिलीभगत से इस घटना को अंजाम दिया गया है। एक साजिश के तहत पुलिस इस मामले में दबंगों पर कार्रवाई नहीं कर रही है।

प्लास्टिक तानकर किसी तरह रह रहे 13 लोग
पीड़ित रंजीत सिंह कहते हैं कि भाई के परिवार की दो स्त्रियों के अलावा करीब दस बच्चे दाे दिनों से इसी स्थल पर प्लास्टिक तानकर गुजारा करने को मजबूर हैं। तीन बेटियां 15-17 साल की हैं। इज्जत छिपानी मुश्किल हो गई है। सोने की जगह है ना शौच की। भोजन के लिए दूसरों पर मोहताज हो गए हैं। लोग आते हैं मेरी पीड़ा सुनते हैं, घर देखते हैं और चले जाते हैं। कहीं से कोई मदद नहीं। पुलिस-प्रशासन मूकदर्शक है।

प्रशासन को भूमाफियाओं ने किया हाइजैक : BJP
उधर, दूसरे पक्ष के अशोक मोदी के अनुसार, रंजीत सिंह के पिता रामदेव सिंह से उन्होंने केवाला के माध्यम से जमीन खरीद ली है। रंजीत सिंह मकान खाली नहीं कर रहा था, इसलिए उसे उजाड़ दिया। अब जमीन पर कब्जा करेंगे। बहरहाल, सवाल उठता है कि इस तरह दबंगई दिखाना कहां तक उचित है। प्रशासन को तुरंत हस्तक्षेप करना चाहिए। भाजपा नेता रामचंद्र सिंह, दिनेश सिंह, शिवलाल सिंह ने कहा है कि पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए प्रशासन से बातचीत की जाएगी। रामचंद्र सिंह ने आरोप लगाया कि भूमाफियाओं ने प्रशासन को भी हाईजैक कर लिया है। इसलिए ऐसी घटना हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News