Ranchi Violence News: रांची को दहलाने की साजिश, इंटरनेट सेवा बंद !

ranchi me internet band

Ranchi Violence News: रांची के मेन रोड में हुई हिंसा के बाद सरकार ने अस्थायी रुप से इंटरनेट सेवा बंद करने के आदेश जारी किया है. गृह सचिव राजीव अरुण एक्का ने यह आदेश दिया है कि राजधानी रांची में आज शाम 7 बजे से कल सुबह 6 बजे तक सेवा बंद करने का आदेश जारी हुआ है. राजधानी रांची में हुए उपद्रव की वजह से राज्य में इंटरनेट सेवा बंद करने का आदेश जारी हुआ है. राजधानी रांची में बीजेपी नेत्री नूपुर शर्मा की गिरफ़्तारी की मांग को लेकर शुक्रवार दोपहर प्रदर्शनकारियों ने जुलुस निकाला. अचानक से जुलुस में शामिल लोग हिंसक हो गए और पुलिस पर पथराव शुरू कर दी. जिसके जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने उपद्रवियों पर लाठीचार्ज की और स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए हवाई फायरिंग भी की. एकरा मस्जिद के समीप हुए इस पत्थरबाजी में पुलिस कर्मियों के साथ साथ कई आम जनता को भी चोट लगने की सुचना है.

एयरटेल ने भेजा SMS संदेश
अभी तक भारती एयरटेल के उपभोक्ताओं को यह संदेश दिया गया है कि रांची में हुए हंगामे को लेकर अफवाह न फैले इसके लिए इंटरनेट को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है. इस संबंध में एयरटेल ने अपने ग्राहकों को मैसेज भी भेजा है. मैसेज में कहा गया है कि सरकार के निर्देशानुसार मोबाइल इंटरनेट सेवाएं आपके क्षेत्र में अस्थायी रूप से बंद रहेगी. असुविधा के लिए खेद है. रांची में भारती एयरटेल के अलावा बीएसएनएल, वोडाफोन, आइडिया, जिओ के 25 लाख से अधिक उपभोक्ता हैं, जो मोबाइल फोन और अबाधित डाटा का उपयोग करते हैं. इस संबंध में बीएसएनएल के महाप्रबंधक टेलीफोन को फोन कर पुष्टि करने की कोशिश की गयी. पर उन्होंने फोन नहीं उठाया.

इधर, रांची जिला प्रशासन द्वारा घायल लोगों को रिम्स में बेहतर इलाज के लिए एडमिट करा दिया गया। रांची के उपायुक्त छवि रंजन ने खुद रिम्स के डायरेक्टर से बात कर घायलों का कुशल क्षेम भी पूछा है और सबसे बेहतर ट्रीटमेंट के लिए कहा है। डायरेक्टर ने बताया है कि रिम्स के योग्य चिकित्सकों की देखरेख में उनका इलाज किया जा रहा है।

लोग धैर्य रखें, किसी जुर्म में शरीक न हों : हेमंत सोरेन
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शुक्रवार को राजधानी रांची में उपद्रव की घटनाओं पर अफसोस जताया। प्रोजेक्ट भवन सचिवालय में संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि यह घटना निश्चित रूप से चिंता का विषय है। लोग धैर्य रखें और किसी भी जुर्म में शरीक न हों। उन्होंने कहा कि आज की घटना से जुड़े विषय पर भी चिंता की आवश्यकता है। कहीं न कहीं हम सब बहुत सुनियोजित तरीके से कुछ ऐसी शक्तियों का शिकार हो रहे हैं। जिसका परिणाम हम सबको भुगतना पड़ेगा। झारखंड की जनता संवेदनशील रही है और वर्तमान हालात में हम परीक्षा की घड़ी से गुजर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि कठिन परीक्षाएं भी हों, लेकिन धैर्य खोने की आवश्यकता नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News