जम्मू कश्मीर के DG जेल एचके लोहिया की हुई हत्या, आतंकी संगठन PAFF ने ली हत्या की जिम्मेदारी !

j&k dg lohiya murder case

Jammu and Kashmir: जम्मू-कश्मीर के डीजी जेल हेमंत लोहिया की सोमवार देर रात हत्या कर दी गई। इस घटना को लेकर अभी तक दो एंगल सामने आए हैं। पहला टेररिस्ट अटैक का और दूसरा मुख्य आरोपी और नौकर यासिर की मानसिक स्थिति और व्यवहार को लेकर। इस घटना में हत्या का शक उस नौकर यासिर पर है, जो घटना के बाद से फरार है। अहम बात कि जिस घर में हत्या हुई, वह लोहिया का नहीं, बल्कि उनके दोस्त का है।

हत्या के बाद मंगलवार सुबह पीपुल्स एंटी फासिस्ट फ्रंट (PAFF) नाम के संगठन की रिलीज सामने आई है। उसमें कहा है कि हम कभी भी और कहीं भी ऐसे हाई प्रोफाइल टारगेट को हिट कर सकते हैं। यह जम्मू-कश्मीर विजिट पर आ रहे गृह मंत्री को हमारा छोटा सा तोहफा है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तीन दिन के दौरे पर जम्मू-कश्मीर में हैं।

बताया जा रहा है कि लोहिया उदयवाला में दोस्त के घर पर थे. उनके साथ उनका नौकर यासिर भी मौजूद था. पुलिस के मुताबिक, शुरुआती जांच में पता चला है कि नौकर ने ही इस हत्या को अंजाम दिया है. इसके बाद वह फरार हो गया. यासिर जम्मू कश्मीर के रामबन का रहने वाला है.

पुलिस के मुताबिक, लोहिया का शव उनके घर पर संदिग्ध परिस्थिति में मिला था. इसके बाद पुलिस जांच में पता चला कि उनकी हत्या की गई है. डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि नौकर को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू किया गया है.

व्यवहार में काफी आक्रामक था नौकर
एडीजीपी जम्मू मुकेश सिंह ने कहा कि- ”अभी तक प्रारंभिक जांच के अनुसार कोई आतंकी कृत्य स्पष्ट नहीं है लेकिन किसी भी संभावना से इंकार करने के लिए गहन जांच की जा रही है।” सामने आया है कि एक घरेलू सहायिका यासिर अहमद मुख्य आरोपी है। प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि वह अपने व्यवहार में काफी आक्रामक था और सूत्रों के अनुसार अवसाद में भी था। डीजी की गला रेतकर हत्या हुई और उनके शरीर पर चोट के निशान हैं।

दिलबाग सिंह ने बताया कि आरोपी ने हेमंत के लोहिया के शव को जलाने की कोशिश की. जम्मू के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, मुकेश सिंह ने लोहिया के घर का दौरा किया. उन्होंने बताया कि लोहिया के शरीर पर जलने के निशान और उनका गला कटा हुआ पाया गया. पुलिस के मुताबिक, घटना स्थल की प्रारंभिक जांच से पता चला है कि लोहिया के शरीर पर तेल भी लगा हुआ पाया गया है. उनके पैर पर सूजन थी. पहले लोहिया की हत्या की गई. उनका गला काटने के लिए केचप की बोतल का इस्तेमाल किया गया. बाद में शव को आग लगाने की कोशिश की गई.

गार्ड ने कमरे में देखी आग
हेमंत के लोहिया के घर पर तैनात गार्ड ने कमरे में आग देखी. इसके बाद वह भाग कर अंदर आया. लेकिन गेट बंद था. इसके बाद उसने गेट तोड़ा. कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था. ADGP ने कहा कि शुरुआती जांच में यह मर्डर लग रहा है. नौकर फरार है. उसकी तलाश की जा रही है. फॉरेंसिंक टीम भी जांच कर रही है. पुलिस ने भी जांच शुरू कर दी है.

लोहिया 1992 बैच के आईपीएस अधिकारी थे. लोहिया काफी लंबे समय तक केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर रहे लेकिन फरवरी 2022 में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक के पद पर जम्मू-कश्मीर लौट आए थे. वे होमगार्ड्स/नागरिक रक्षा/राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) में कमांडेंट जनरल के रूप में तैनात थे. वे अगस्त 2022 में प्रमोट करके DG जेल के पद पर तैनात किए गए थे. हेमंत लोहिया की पत्नी, एक बेटा और बेटी है. बेटी की शादी हो चुकी है, वो लंदन में रहती है. जबकि बेटे की शादी इसी साल दिसंबर में होनी थी.

आतंकी संगठन टीआरएफ ने ली जिम्मेदारी
आतंकी संगठन टीआरएफ ने एचके लोहिया की हत्या की जिम्मेदारी ली है. टीआरएफ का पीपुल्स एंटी फासिस्ट फोर्स नया आतंकी संगठन है. यह हाल ही में कश्मीर में गैर स्थानीय की हत्या समेत तमाम हमलों के लिए जिम्मेदार है. टीआरएफ ने बयान जारी कर कहा कि हमारे स्पेशल स्क्वायड ने जम्मू के उदयवाला में खुफिया ऑपरेशन को अंजाम देते हुए डीजी पुलिस जेल एचके लोहिया की हत्या कर दी. आतंकी संगठन ने कहा कि यह हाई प्रोफाइल ऑपरेशन्स की शुरुआत है. यह हिंदुत्व शासन और उनके सहयोगियों को चेतावनी है कि हम कहीं भी किसी पर भी हमला कर सकते हैं. यह गृह मंत्री को उनके दौरे से पहले छोटा सा गिफ्ट है. हम भविष्य में ऐसे ऑपरेशन्स जारी रखेंगे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News