नेशनल हाईवे का वीडियो वायरल, यहां 20 किलोमीटर में बन गए हैं कई छोटे-छोटे तालाब

GADHON WALI NATIONAL WAY

सार
किसी भी नेशल हाईवे (National Highway NH 227) पर छोटे से लेकर बड़े वाहन तक सरपट दौड़ते नजर आते हैं लेकिन बिहार का एक ऐसा नेशनल हाईवे है, जिस पर दौड़ना तो दूर यहां वाहन समान्य गति से भी नहीं चल पाते और अक्सर दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं. इस सड़क पर लोगों का पैदल चलना भी खतरे से खाली नहीं.

बिहार में गड्ढोंवाली सड़क के नाम से फेमस है कलुआही-बासोपट्टी-हरलाखी से गुजरनेवाली रोड। सरकारी रेकॉर्ड में ये NH 227 के नाम से दर्ज है। मधुबनी के इस नेशनल हाईवे का ड्रोन से लिया गया वीडियो आजकल वायरल हो रहा है। जो बिहार के शान में बट्टा लगा रहा है। सड़क की सबसे बदहाल हालत मानसी पट्‌टी से लेकर कलना तक है। इस रोड पर सबसे बड़ा गड्ढा 100 फीट का बताया जा है।

गड्ढों वाले NH 227 का ड्रोन वीडियो
गड्ढों वाले NH 227 के ड्रोन वीडियो को देखकर ही डर लग रहा है। पता नहीं कब कहां कौन गिर जाए। कौन सी गाड़ी कहां उलट जाए। किसी ने इसका ड्रोन से वीडियो बनाया और सोशल प्लेटफॉर्म पर अपलोड कर दिया, अब ये वायरल हो रहा है। बिहार के मधुबनी से गुजरने वाले इस नेशनल हाईवे का वीडियो जो भी देख रहा है वो पूछ रहा है कि आखिर ये सड़क कहां पर है। बिहार का है तो किस जिले का है, किस इलाके का है।

वीडियो में सिर्फ गड्ढे ही गड्ढे दिख रहे
टॉप एंगल से लिए गए इस वीडियो में सिर्फ गड्ढे ही गड्ढे दिख रहे हैं। गड्ढे इतनी की गिनती करना मुश्किल है। कलुआही-बासोपट्टी-हरलाखी से गुजरने वाला ये मेन रोड है। मानसी पट्‌टी से कलना तक करीब 20 किलोमीटर तो बिल्कुल चलने लायक नहीं है। कितनी मजबूरी में लोग इस रोड से गुजरते होंगे, अंदाजा लगाया जा सकता है। सड़क के किनारे बसे गांवों की स्थिति तो और भी बदतर है।

2015 के बाद से खराब होती गई सड़क
वैसे इस सड़क की ऐसी हालत एक दिन में हुई नहीं होगी। दरअसल, 2015 के बाद से ही ये सड़क बर्बाद होती चली गई। अब तो इतनी खराब हालत में है कि नई सड़क बनाना ज्यादा आसान होगा। रिपेयर के लिए अब तक तीन बार टेंडर जारी किए गए। लेकिन सभी ठेकेदारों ने कुछ दूर सड़क बनाने के बाद काम छोड़ दिया।

PK ने सीएम नीतीश पर साधा निशाना : इस मामले के लेकर राजनीतिक सलाहकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर बिहार सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा, ’90 के दशक के जंगलराज में बिहार में सड़कों की स्थिति की याद दिलाता यह बिहार के मधुबनी जिले का नेशनल हाईवे 227 (L) है. अभी हाल में ही #Nitishkumar जी एक कार्यक्रम में पथ निर्माण विभाग के लोगों को बोल रहे थे कि बिहार में सड़कों की अच्छी स्थिति के बारे में उन्हें सबको बताना चाहिए.’

निर्माण में 25 करोड़ रुपये हुए थे खर्चः बताया जाता है कि 20 किलोमीटर ये सड़क कलुआही से बासोपट्टी होते हुए उमगांव तक जाती है. इस सड़क पर अगर आप अपनी नजर उठाकर देखें तो जहां तक आपकी नजर जाएगी, उससे आगे तक इस सड़क में गड्ढे ही नजर आएंगे. बताया जाता है कि इसके निर्माण में 25 करोड़ रुपये खर्च भी किए गए हैं लेकिन करोड़ों खर्च करने के बाद भी सड़क की तस्वीर क्यों नहीं बदली, ये तो राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ही बता पाएगा. 2015 के बाद से यह सड़क पूरी तरह से खराब है. इसे बनाने के लिए अब तक तीन बार टेंडर जारी हो चुके हैं लेकिन सभी ठेकेदार सिर्फ सड़क बनाने की खानापूर्ति करके भाग गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News