पुलिस के पहुंचने पर नक्सलियाें ने की अंधाधुंध फायरिंग, दो इंजीनियराें का अपहरण, 10 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जलकर राख !

Naxalite attack in latehar

सार
लातेहार में भाकपा माओवादियों के हमले के बाद से लोग दहशत में हैं. नक्सलियों ने रेलवे ब्रिज निर्माण स्थल पर हमला किया. कर्मचारियों और मजदूरों से मारपीट भी की. बाद में चेतावनी देकर वहां से फरार हो गए. वहीं लोग सुरक्षा नहीं मिलने से नाराज हैं.

Naxalite attack in latehar : पतरातू से साेननगर तक थर्ड लाइन रेलवे का निर्माण कर रही आरबीएनएल कंपनी के ठेकेदार टीटीआईपीएल की कटपुलिया साइट पर नक्सलियाें ने मंगलवार काे हमला कर दिया। टोरी व चेटर स्टेशन के बीच डगडगी पुल के पास शाम करीब 4.30 बजे नक्सलियों ने दाे इंजीनियर गौरव कुमार व रमेश कुमार काे अगवा कर लिया। दाे दर्जन से ज्यादा मजदूराें और कर्मचारियाें काे पीटा। शाम 7 बजे तक नक्सली उत्पात मचाते रहे। सूचना पाकर पुलिस पहुंची, लेकिन अंधेरा हाेने के कारण घटनास्थल पर नहीं जा सकी। इधर, पुलिस के पहुंचने पर नक्सलियाें ने 50 राउंड फायरिंग की।

करीब दाे घंटे बाद एक किमी दूर दाेनाें इंजीनियराें काे नक्सलियाें ने छाेड़ दिया। हालांकि, इससे पहले 10 गाड़ियां फूंक दीं। इनमें दो रिंग मशीन, एक जेसीबी, एक हाइड्रा, एक ट्रैक्टर, तीन बाइक शामिल हैं। नक्सलियों ने जेनरेटर को भी आग लगा दी। घटना की जिम्मेदारी रविंद्र गंझू के दस्ते ने ली है। कंपनी सूत्राें के अनुसार, घटना से प्रबंधन काे 15 कराेड़ से अधिक का नुकसान हुअा है। एसडीपीओ संतोष मिश्रा ने घटना की पुष्टि की है।

कर्मचारियों को कतार में खड़ा कर गाड़ियों में लगा दी आग, दो किमी दूर तक दिखीं लपटें
सूत्रों के अनुसार यह मामला लेवी से जुड़ा बताया जा रहा है। आरवीएनएल कंपनी चंदवा के गूंजराय गांव के पास रेल लाइन तैयार कर रही थी। अचानक यहां उग्रवादी पहुंचे, मशीन और गाड़ियों में आग लगा दी और काम कर रहे कर्मचारियों को धमकाते हुए काम रोकने के लिए कहा।

घटना के बाद रेल परिचालन ठप
घटना के बाद रेल परिचालन इस रास्ते पर बाधित है।कर्मचारियों ने नक्सली हमले के संबंध में बताया, आग लगाने से पहले माओवादियों ने सभी कर्मचारियों को कतार में खड़ा किया। इसके बाद वाहनों में आग लगाने लगे। गाड़ियों में लगने वाली आग की लपटें इतनी तेज थी कि उन्हें दो किलोमीटर दूर से देखा जा सकता था। रविंद्र गंझू का दस्ता लेवी को लेकर लगातार हमले कर रहा है, इससे पहले भी चंदवा थाना क्षेत्र के केंदुआटांड़ साइट पर हमला करते हुए तीन लोगों को गोली मारी थी।

कौन है रविंद्र गंझू
झारखंड सहित कई राज्यों में नक्सली रविंद्र गंझू मोस्ट वांटेड है। 2019 में विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के कार्यक्रम से कुछ दूरी पर पर चंदवा थाना गेट से मात्र 3 किमी की दूरी पर लुकुइया में एनएच पर ही पेट्रोलिंग पार्टी पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी।

इस हमले में एक एएसआई समेत चार जवान शहीद हो गए थे। यह रविंद्र गंझू का ही दस्ता था। 21 अक्टूबर 22 को चंदवा थाना क्षेत्र के केंदुआटांड़ में रेलवे साइट पर हमला करते हुए एक इंजीनियर समेत तीन लोगों को गोली मार दी थी। 17 अक्टूबर 2018 को लोहरदगा के कठुआपानी मे और 8 जनवरी 2022 को गुरदारी थाना क्षेत्र में हमला करते हुए कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। ऐसी कई बड़ी घटनाओं में रवींद्र गंझू का हाथ रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News