नितिन गडकरी बोले- आई एम फादर ऑफ टोल टैक्स, लेकिन अब ये खत्म होना चाहिए !

nitin gadkari i am father of toll tax

सार
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान कहा कि मैं भारत में टॉल टैक्स का जनक हूं. मैंने ही सबसे पहले टॉल टैक्स वाली पहली सड़क बनाई थी.

Father Of Toll Tax: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार में कहा कि मैं देश में एक्सप्रेस-वे पर लगने वाले टोल टैक्स का फादर हूं। उन्होंने बताया कि मैंने 1990 के दशक के आखिर में राज्य मंत्री के रूप में महाराष्ट्र में पहली ऐसी सड़क बनाई थी, जहां टोल टैक्स लगता है। केंद्रीय मंत्री ने राज्यसभा में प्रश्नकाल में एक सवाल का जवाब देते हुए यह जानकारी दी। दरअसल, संसद के सदस्यों ने शहर की सीमा के भीतर एक्सप्रेस-वे पर टोल प्लाजा लगाने पर चिंता जताई थी। उनका तर्क था कि किसी छोटे से काम के लिए शहर के भीतर आने पर भी लोगों को टोल देना पड़ता है, जो सही नहीं है। इस पर नितिन गडकरी ने आश्वासन दिया कि हम इस समस्या पर काम कर रहे हैं, जल्द ही इसका समाधान किया जाएगा।

कांग्रेस सरकार पर लगाया गंभीर आरोप
केंद्रीय मंत्री ने बताया कि यह समस्या कांग्रेस की सरकार में पैदा हुई थी। 2014 के पहले शहरी क्षेत्र के पास टोल लगाया जाता था, जिसका खामियाजा लोग आज तक भुगत रहे हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण और गैरकानूनी है। शहर के लोग एक्सप्रेस-वे पर 10 किमी चलते हैं और उनसे 75 किमी के लिए टोल वसूला जाता है।

गडकरी ने कहा कि इसे सौभाग्य कहें या दुर्भाग्य, मैं इस टोल का जनक हूं। देश में पहली बार मैंने टोल सिस्टम शुरू किया था। 1995 और 1999 के बीच जब मैं महाराष्ट्र सरकार में पीडब्ल्यूडी मंत्री था तब मुंबई-पुणे एक्सप्रेस-वे परियोजना शुरू की गई थी। अब हम इसे सुधारने पर काम कर रहे हैं।

नई व्यवस्था शुरू होगी, नहीं लगेगा टैक्स
मंत्री ने कहा कि जो नई व्यवस्था शुरू होने जा रही है, उससे हम देखेंगे कि शहर का इलाका खत्म हो जाएगा और लोगों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि अक्सर शहर के लोग एक्सप्रेसवे रोड के केवल 10 किमी का उपयोग करते हैं और 75 किमी के लिए टोल का भुगतान करने के लिए कहा जाता है.

गडकरी के कार्यों की विपक्ष भी करता है प्रशंसा
सड़क निर्माण से जुड़े कार्यों के लिए नितिन गडकरी को माहिर माना जाता है। इनके विभाग ने विगत वर्षों में देश में कई बड़े एवं महत्वपूर्ण एक्सप्रेसवे का निर्माण किया है। यह निर्धारित समय से पहले एवं गुणवत्ता युक्त कार्य करने के लिए जाते हैं। अपने कार्यों के लिए कई बार विपक्ष भी इनकी प्रशंसा कर चुका है। अभी गडकरी का सबसे ज्यादा ध्यान दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे को समय पर पूरा कराने पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News