बिहार के बाद झारखंड में भी अग्निपथ योजना का विरोध, आर्मी रिक्रूटमेंट ऑफिस के सामने प्रदर्शन

jharkhand agnipath yojna ka virodh

सार
राजधानी रांची के मेन रोड रेलवे ओवरब्रिज के नजदीक स्थित आर्मी बहाली कार्यालय के समीप सैकड़ों की संख्या में युवा मौजूद हैं. ये युवा आर्मी में नियुक्ति की नयी नियमावली से नाखुश हैं. सभी युवा इस नयी नियमावली के विरोध में जमा हैं और नारेबाजी कर रहे हैं.

Ranchi News : राजधानी रांची के मेन रोड रेलवे ओवरब्रिज के नजदीक स्थित आर्मी बहाली कार्यालय के समीप सैकड़ों की संख्या में युवा मौजूद हैं. ये युवा आर्मी में नियुक्ति की नयी नियमावली से नाखुश हैं. सभी युवा इस नयी नियमावली के विरोध में जमा हैं और नारेबाजी कर रहे हैं. सैकड़ों की संख्या में शामिल युवा झारखंड के विभिन्न जिले से आये हुए हैं. आर्मी बहाली ऑफिस के सामने बैनर के साथ प्रदर्शन करते हुए नयी नियुक्ति नियमावली का विरोध कर रहे हैं.

मेन रोड हुआ जाम
आर्मी बहाली ऑफिस के सामने सैंकड़ों की संख्या में मौजूद युवा नारेबाजी कर रहे हैं. सैकड़ों की संख्या में युवकों के जमा होने और प्रदर्शन करने की वजह से यातायात पूरी तरह से ठप हो गई. ओवरब्रिज की ओर आने-जाने वाली सड़क जाम है. बताते चलें कि बुधवार को केंद्र सरकार की ओर से सेना में बहाली की नयी नियमावली लागू की गयी. इसी के बाद राज्य के कई जिले के सैकड़ों अभ्यर्थियों रांची पहुंचे हैं और सड़क को जाम कर दिया है. पुलिस जानकारी मिलने के बाद रेलवे ओवर ब्रिज के पास पहुंचकर सभी को समझा कर शांत करा रही है और सड़क जाम हटाने की कोशिश कर रही है.

गौरतलब है कि बिहार, राजस्थान के अलावा देश के अन्य हिस्सों में अग्निपथ योजना को लेकर लगातार विरोध किया जा रहा है. विद्यार्थियों का आरोप है कि 2 साल पहले ही मेडिकल और फिजिकल परीक्षा पास कर ली थी. लेकिन अब तक लिखित परीक्षा नहीं हुए है. ऐसे में सरकार ने 4 साल वाली स्कीम निकालकर जले पर नमक छिड़का है. नौकरी के लिए उनकी उम्र गुजर रही है और सेना में भर्तियां रोक दी गई हैं.

विद्यार्थियों का कहना है कि केंद्र सरकार की योजना में ही गड़बड़ी है. सिर्फ 4 साल बाद रिटायरमेंट दे दी जाएगी. आगे फिर ये ट्रेंड जवान आखिर करेंगे तो क्या करेंगे. इसकी कोई योजना नहीं है. 18 से 22 साल के 75% युवा 22 से 26 साल की उम्र में बेरोजगार हो जाएंगे. सरकार के 4 साल पूरे होने पर 25 फ़ीसदी अग्निवीरों स्थाई कैडर में भर्ती कर लिया जाएगा. लेकिन 10वीं या 12वीं पास कर अग्निवीर बनने वाले 75 फीसदी युवाओं का क्या होगा, इसे लेकर केंद्र की कोई स्पष्ट नीति नहीं है.

इस मामले को लेकर लगातार कई प्रदेशों में विरोध हो रहा है. झारखंड के अभ्यर्थी और छात्र वर्ग भी इसके विरोध में सड़कों पर हैं. अभ्यर्थियों ने सेना बहाली ऑफिस के समक्ष एकजुट होकर अग्निपथ योजना का विरोध किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News