Panipuri Ban in Kathmandu: काठमांडू में गोलगप्‍पे की बिक्री पर बैन, जानिए- क्‍यों भारत के लिए भी खतरे की घंटी !

kathmandu me golgappe banned

स्टोरी हाइलाइट्स
घाटी में सात और नए मरीज आए हैं सामने
स्वास्थ्य मंत्रालय ने सतर्क रहने को कहा

Panipuri Ban in Kathmandu: नेपाल की राजधानी काठमांडू के एलएमसी में सरकार ने पानीपुरी पर बैन लगा दिया है। काठमांडू में पानी पुरी के पानी में हैजा बैक्टीरिया पाए जाने का दावा किया गया है और शहर में हैजा की बीमारी फैल रही है। नेपाल के स्वास्थ्य मंत्रालय ने तत्काल प्रभाव से पानी पुरी पर बैन लगाने का फैसला किया है। नेपाल के स्वास्थ्य मंत्रालय के अलर्ट के तुरंत बाद काठमांडू में पानी पुरी पर पूरी तरीके से बैन लगा दिया गया।

राजधानी काठमांडू के ललितपुर महानगर शहर में हैजा के मामले बढ़ गए हैं, जिसमें 12 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। अधिकारियों ने पानी पुरी की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। ललितपुर मेट्रोपॉलिटन सिटी (एलएमसी) ने दावा किया कि हैजा के बैक्टीरिया को ले जाने वाले पानी का इस्तेमाल पानी पुरी में किया जा रहा है।

डीएनए की रिपोर्ट के अनुसार नगर पुलिस प्रमुख सीताराम हचेतु के बताया शहर में भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों और कॉरिडोर क्षेत्र में पानीपुरी की बिक्री रोकने के लिए आंतरिक तैयारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि शहर में हैजा फैलने का खतरा बढ़ गया है। स्वास्थ्य और जनसंख्या मंत्रालय के अनुसार, काठमांडू घाटी में हैजा के रोगियों की कुल संख्या 12 तक पहुंच गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के तहत महामारी विज्ञान और रोग नियंत्रण प्रभाग के निदेशक चुमानलाल दास के अनुसार, काठमांडू महानगर में हैजा के पांच और चंद्रगिरी नगर पालिका और बुधनिलकांठा नगर पालिका में एक-एक मामले की पुष्टी की गई है। मंत्रालय ने सभी से सतर्क रहने का अनुरोध किया है क्योंकि अतिसार, हैजा और अन्य जलजनित बीमारियां विशेष रूप से गर्मी और बरसात के मौसम में फैलती हैं।

भारत भी रहे सतर्क
नेपाल की सीमा भारत से लगती है और हजारों लोग यहां से वहां जाते हैं। ऐसे में भारत को भी सतर्क रहना होगा। हैजा तेजी से फैलने वाली जल जनित बीमारी है। भारत के ज्‍यादातर राज्‍यों में मानसून सक्रिय होने जा रहा है। ऐसे में एतिहात और बरतनी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News