जंगल लकड़ी लेने गई महिला को मिला हीरा, रातो-रात हुई मालामाल !

jungle me mahila ko mila heera

सार
पन्ना जिले में महिला को रास्ते में 4 कैरेट 39 सेंट का हीरा मिला है, हीरा पाने के बाद महिला की खुशी का ठिकाना नहीं है. पढ़िए पूरी खबर.. (Panna Tribal Woman Found Diamond) (Panna Diamond)

Woman Found Diamond: मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में एक महिला राह चलते-चलते लखपति बन गई. आदिवासी महिला गेंदा बाई जंगल में लकड़ी लेने गई थी. उसे रास्ते मे बेशकीमती 4 कैरेट 39 सेंट का हीरा मिला, जिसे उसने हीरा कार्यालय में जमा करवा दिया. इस हीरे की अनुमानित कीमत करीब 20 लाख रुपये बताई जा रही है. फिलहाल इस हीरे को बोली के लिए रखा गया है.

गेंदा बाई पन्ना नगर में पुरुषोत्तमपुर के वार्ड नं-27 की रहने वाली है. वह रोजाना की तरह बुधवार सुबह जंगल लकड़ी लेने के लिए गई थी. रास्ते में उसे एक चमकीला पत्थर दिखाई दिया. उसने इसे घर आकर अपने पति को दिखाया.

उस वक्त पति-पत्नी दोनों उस चमकीले पत्थर की पहचान नहीं कर पाए और सीधे हीरा कार्यालय लेकर पहुंच गए. हीरा पारखी अनुपम सिंह ने चमकीला पत्थर देखकर बताया कि यह मामूली पत्थर नहीं है, बल्कि बेशकीमती हीरा है. इसका वजन 4 कैरेट 39 सेंट है. इस हीरे को पाकर आदिवासी परिवार बेहद खुश है.

गेंदा बाई कहती है कि घर की हालत बहुत कमजोर है. लकड़ी बेचकर और मजदूरी से घर का खर्च चलता था. चार बेटे और दो बेटियां शादी के लिए है. अब हीरे से मिलने वाली रकम से बेटियों की शादी करेंगे और घर भी बनाएंगे. गेंदा बाई के पति ने कहा कि पत्नी को हीरा मिलने से वह बहुत खुश है. हीरा को कार्यालय में जमा करा दिया है.

इस मामले में हीरा पारखी अनुपम सिंह ने बताया कि गेंदा बाई को हीरा मिला है. वह हर रोज की तरह जंगल लकड़ी लेने गई थी. उन्हें चमकीला पत्थर मिला. वह इसे लेकर सीधे हीरा कार्यालय पति के साथ आ गई. यहां देखा तो वह चमकीला पत्थर हीरा है. इसे अब बोली के लिए रखा जाएगा.

नीलामी में रखा जाएगा: हीरे का वजन 4 कैरेट 39 सेंट है. इसकी अनुमानित कीमत लगभग 20 लाख बताई जा रही है. हीरा कार्यालय में जमा करवा दिया गया है. आगामी हीरा नीलामी में इसको रखा जाएगा. हीरा पाने महिला की आर्थिक हालत काफी दयनीय है. महिला लकड़ी बेचकर अपना घर खर्च चलाती है. महिला के चार बेटे और दो बेटियां हैं जिनकी शादी करनी है. अचानक हीरा मिलने से महिला की खुशी का ठिकाना नहीं है. गेंदाबाई ने बताया कि अब हीरा नीलामी सेे मिलने वाले रूपयों से वह बेटियों की शादी करेंगी और अपना घर भी बनाएंगे.

हमने कभी हीरा देखा नहीं था
हीरा मिलने से अत्यधिक प्रसन्न गेंदा बाई ने बताया कि तीन-चार दिन पूर्व वह लकड़ी लेने के लिए पुखरी के जंगल गई थी। वहीं जंगल के रास्ते में मुझे चमकती चीज दिखाई दी, जिसे उठाकर मैं घर ले आई थी। हमने कभी हीरा देखा नहीं था, इसलिए कांच का टुकड़ा समझकर घर में ही रख दिया। आज मेरे पति परमलाल ने कहा कि पन्ना चलकर साहब को इसे दिखाते हैं और हम दोनों पन्ना आ गए। यहां हीरा ऑफिस में जब इसे दिखाया, तो पता चला कि यह कांच का टुकड़ा नहीं हीरा है। यह जानकर गेंदाबाई की खुशी का ठिकाना नहीं है। वह कहती है कि बेटियों की शादी अब वह धूमधाम से करेगी।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News