सोने की खान के बाद बिहार में पेट्रोलियम भंडार मिलने के संकेत, ONGC को मिली खोज की मंजूरी !

Bihar Petroleum Reserves

सार
राज्य में पेट्रोलियम भंडार की खोज के लिए बिहार सरकार की तरफ से मंजूरी भी मिल गई है. बता दें कि भारत दुनिया के सबसे बड़े तेल आयातक देशों में से एक है. अगर बिहार में पेट्रोलियम भंडार को खोजने में कामयाबी मिलती है तो देश काफी हद तक पेट्रोल के लिए खाड़ी देशों पर निर्भरता खत्म कर सकता है.

Bihar Petroleum Reserves: बिहार के जमुई में एक तरफ देश की सबसे बड़ी सोने की खदान होने की बात सामने आई है, तो दूसरी तरफ बक्सर और समस्तीपुर में पेट्रोलियम के भंडार होने की संभावना जताई जा रही है. समस्तीपुर जिले के 308 किलोमीटर और बक्सर के 52.13 वर्ग क्षेत्र में पेट्रोलियम पदार्थ मिलने के संकेत मिले हैं. इसकी खोज के लिए बिहार सरकार ने स्वीकृति प्रदान कर दी है. भारत सरकार ने प्रस्ताव भेजा था.

इसकी जानकारी देते हुए भारत सरकार के गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि भारत सरकार के उपक्रम तेल और प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड (ONGC) को समस्तीपुर के गंगा बेसिन में पेट्रोलियम पदार्थों के खोज के लिए बिहार सरकार ने स्वीकृति आज दे दी है. अनुमान है कि पेट्रोलियम का भंडार मिल सकता है. समस्तीपुर में 308 किलोमीटर वर्ग क्षेत्र में तेल की खोज अत्याधुनिक तकनीक से किया जाना है.

अनुमान सत्य साबित होगा: नित्यानंद राय

देश के गृह राज्यमंत्री मंत्री राय ने कहा कि समस्तीपुर जिले से गुजरने वाली गंगा बेसिन में तेल का पर्याप्त भंडार होने का अनुमान लगाया गया है. नित्यानंद राय ने तेल भंडारण के मिलने का दावा करते हुए कहा कि पेट्रोलियम मंत्री से बात होने के बाद मैं दावे के साथ कहा सकता हूं कि समस्तीपुर में तेल का भंडार मिलने का अनुमान सत्य साबित होने वाला है. यहां 308 किलोमीटर वर्ग क्षेत्र में तेल अगर मिल जाता है तो आप समझ सकते हैं कि समस्तीपुर के साथ साथ बिहार में क्या हो सकता है.

बक्सर के डीएम के पास आया पत्र
ONGC ने बक्सर जिला प्रशासन को भी एक पत्र भेजा है. इससे बालू और बाढ़ की बहुतायत वाले प्रदेश के भूगर्भ में कीमती वस्तुओं के मिलने की संभावना बलवती होती जा रही है. बक्सर के जिलाधिकारी ने बताया कि इस आशय का पत्र जिला प्रशासन को प्राप्त हुआ है कि गंगा के बेसिन में पेट्रोलियम पदार्थ हो सकतें हैं.

जल्द ही सर्वे किया जाएगा
तेल और प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड (ओएनजीसी) का यह अनुमान है कि बक्सर 52.13 km और समस्तीपुर में तेल के बड़े भंडार हो सकते हैं. ओएनजीसी बिहार के खान और भूतत्व विभाग से पेट्रोलियम एक्सप्लोरेशन (अन्वेषण) के लिए लाइसेंस के लिए आवेदन दिया है. डीएम ने कहा कि बहुत जल्दी ही ओएनजीसी के साथ मिलकर स्थल निरीक्षण का कार्य किया जाएगा.

बिहार के इन जगहों पर है पेट्रोलियम भंडार
समस्तीपुर जिले के 308 किलोमीटर और बक्सर के 52.13 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में पेट्रोलियम पदार्थ मिलने के संकेत मिले हैं. इसकी खोज के लिए भारत सरकार ने प्रस्ताव भेजा था, जिसे बिहार सरकार ने अपनी मंजूरी प्रदान कर दी है.

ONGC करेगी पेट्रोलियम भंडार की खोज
भारत सरकार के उपक्रम प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड (ONGC) को समस्कीपुर के गंगा बेसिन इलाके में पेट्रोलियम भंडार की खोज करने के लिए मंजूरी दी गई है. देश के गृह राज्यमंत्री मंत्री राय ने कहा कि समस्तीपुर जिले से गुजरने वाली गंगा बेसिन में तेल का पर्याप्त भंडार होने का अनुमान लगाया गया है.

इससे पहले मिल चुका है सोने का भंडार
बता दें कि बिहार में पेट्रोलियम भंडार मिलने से पहले यहां पर देश का सबसे बड़ा सोने का भंडार होने की बात भी सामने आ चुकी है. भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (GSI) के एक सर्वे के अनुसार, जमुई जिले में 37.6 टन खनिज युक्त अयस्क समेत लगभग 22.28 करोड़ टन सोने का भंडार मौजूद है. बिहार सरकार ने इसे खोजने की अनुमति देने का फैसला किया है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News