रांची पुलिस ने चौक-चौराहों पर लगाए पोस्टर वापस हटाया गया !

ranchi se poster hataya gaya

Ranchi : राजधानी रांची के जाकिर हुसैन पार्क के पास रांची हिंसा मामले के आरोपियों का पोस्टर लगाया गया था . लेकिन, कुछ ही देर में इस पोस्टर को उतारा दिया गया. पोस्टर के उतारे जाने की घटना क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है. बता दें कि रांची पुलिस ने आरोपियों की तस्वीर को लेकर शहर में पोस्टर लगाते हुए लोगों से सूचना देने की अपील की है. इस पोस्टर में 33 आरोपियों की पथराव करते हुए तस्वीर दिखायी गयी है.

जिला प्रशासन की तरफ से जाकिर हुसैन पार्क के पास उपद्रवियों का पोस्टर लगाने का काम शाम चार बजे के बाद लगाना शुरू किया गया था. इसके बाद एक फोन की घंटी बजी और लग रहे पोस्टरों को उतार लिया गया. पुलिस का कहना है कि पोस्टर संशोधन के लिए उतारा गया है.

राजनीतिक हलकों में इससे खलबली मच गयी, और काफी गहमागहमी शुरू हो गयी. पूरे प्रशासनिक महकमे में यह चर्चा का विषय हो गया है कि आखिर किसके कहने पर पोस्टर हटाये गये. मालूम को कि राज्यपाल रमेश बैस ने सोमवार 13 जून को राज्य के डीजीपी, एडीजीपी, रांची के उपायुक्त और एसएसपी को बुलाकर यह पूछा था कि क्यों हिंसा हुई. इसके अलावा उन्होंने उपद्रवियों का पोस्टर जारी करने का निर्देश दिया था. इसके 24 घंटे बाद जिला प्रशासन ने कार्रवाई भी की. पर फोन की घंटी ने सारा गुड़ गोबर कर दिया.

दरअसल पुलिस जिस तरह से काम कर रही है उसमें सिर्फ पोस्टर में त्रुटि नहीं रह गई है, रांची पुलिस के हर काम में त्रुटी रह जा रही है. इसको लेकर हर जगह सवाल भी उठ रहे हैं. पोस्टर लगाया गया फिर पोस्टर उतारा गया. हो सकता है फिर पोस्टर लगाया जाए. पुलिस की कार्यप्रणाली में शायद ऐसा पहली बार हो रहा है, जब पुलिस राजनीति की भाषा बोल रही है क्योंकि राज्यपाल ने कहा पोस्टर लगा दो तो पोस्टर लगा दिया गया. सरकार से निर्देश आया होगा कि पोस्टर उतार दो तो पोस्टर उतार दिया गया.

पुलिस अपनी फजीहत बचाने के लिए कह रही है कि सुधार करके फिर पोस्टर हटाए जा रहे हैं. लेकिन यह त्रुटी हुई कहां और इस त्रुटि को सुधरेगा कौन यह तो पुलिस वाले ही जानें, लेकिन पोस्टर छपाई के पैसे भी रांची वालों के टैक्स से ही बर्बाद हुआ है यह तो साफ है बाकी जांच तो चल ही रही है.

ये खबर लगातार अपडेट की जारही है…..

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News