Jamshedpur News :52 के हुए आर. माधवन:एक्टर ही नहीं बेहतरीन स्पीकर, 7 भाषाओं के जानकार, जमशेदपुर से है खास नाता !

r madhvan birthday

सार
बॉलीवुड अभिनेता आर माधवन अपनी बेहतरीन अदाकारी और शानदार लुक्स के लिए अपने फैंस के बीच काफी मशहूर हैं। 1998 में अपने अभिनय की शुरुआत करने वाले अभिनेता ने लाखों प्रशंसकों के दिलों पर राज किया है। एक जून 1970 में जन्मे अभिनेता आर माधवन इस आज अपना 52वां जन्मदिन मना रहे हैं।

Jamshedpur News : 1 जून 1970 को जमशेदपुर में जन्में माधवन के पिता रंगनाथन लैंगर टाटा स्टिल में मैनेजमेंट एक्जिक्यूटिव हैं और उनकी मां सरोज बैंक ऑफ इंडिया में मैनेजर हैं। उनकी एक छोटी बहन भी है जो यूके में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। माधवन स्कूली शिक्षा भी जमशेदपुर में ही हुई जिसके बाद उन्होंने मुंबई में रहते हुए पब्लिक स्पीकिंग में पोस्ट ग्रेजुएशन किया। माधवन को इसी दौरान अपने कॉलेज से कल्चरल एंबेसडर के तौर पर अपने देश को कनाडा में रिप्रजेंट करने का मौका भी मिला। माधवन ने इलेक्ट्रानिक्स में बीएससी की है।

मैडी यानी आर.माधवन आज अपना 52वा बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। माधवन हिंदी के साथ तमिल फिल्मों के भी सुपरस्टार हैं। उन्होंने अपने करियर में रहना है तेरे दिल में, तनु वेड्स मनु, 3 इडियट्स जैसी कई बेहतरीन फिल्में की हैं लेकिन क्या आप जानते हैं माधवन एक्टर के साथ ही बेहतरीन लेक्चरार भी हैं। माधवन का सपना पहले आर्मी में जाना था। वो 22 साल की उम्र में लंदन जाकर ब्रिटिश आर्मी ‘द रॉयल नेवी’ और ‘द रॉयल फोर्स’ के साथ ट्रेनिंग कर चुके हैं। उन्हें क्यूटेस्ट वेजिटेरियन मेल के टाइटल से भी नवाजा जा चुका है। आर.माधवन को 7 भाषाएं आती हैं। माधवन एक बेहतरीन एक्टर होने के साथ ही शानदार स्पोकपर्सन भी हैं वो पब्लिक स्पिकिंग और पर्नैलिटी डेवलपमेंट की दुनिया का जानामाना नाम हैं। 2017 में माधवन हार्वर्ड विश्वविद्यालय की एनुअल कॉन्फ्रेंस का हिस्सा भी रह चुके हैं। तो अब तक तो आप जान ही गए हैं कि जिस माधवन को आप जानते हैं वो सिर्फ एक्टर नहीं हैं तो चलिए आज उनके बर्थडे पर हम बात करते हैं उनका 52 सालों का सफर।

टीवी सीरियल से शुरू हुआ एक्टिंग का सफर
आर.माधवन अब फिल्मों में करियर बनाने का मन बना चुके थे। माधवन ने सबसे पहले चंदन पाउडर के एक ऐड में काम किया। इस ऐड के संतोष सिवान ने माधवन को डायरेक्टर मणिरत्नम की फिल्म इरुवर के लिए लीड रोल के लिए टेस्ट देने को कहा। पर मणिरत्नम ने माधवन को ये कहकर रिजेक्ट कर दिया कि इस रोल के लिए फिट नहीं बैठते। फिर माधवन ने अपने एक्टिंग करियर को आगे बढ़ाने के लिए छोटे पर्दे का सहारा लिया। उन्होंने टीवी सीरियल बनेगी अपनी बात से शुरुआत की और घर जमाई, साया, आरोहण, ये कहां आ गए हम में काम किया। जिसके बाद उन्हें इस रात की सुबह नहीं फिल्म में काम मिला पर इस फिल्म में उनका रोल काफी छोटा था जिस वजह से उन्हें फिल्म में क्रेडिट भी नहीं दिया गया।

रहना है तेरे दिल में
साल 2001 में आई फिल्म ‘रहना है तेरे दिल में’ ने मार माधवन को हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में एक अलग पहचान दिलाई। इस फिल्म में अभिनेता के किरदार को आज भी लोग बेहद पसंद हैं। फिल्म के उनके लुक की बात करें तो माधवन ने इस फिल्म में बिखरे हुए बाल और अपनी मासूमियत से कई लड़कियों का दिल चुरा लिया था।

साल 1999 में शादी कर ली
इस डेट के बाद, माधवन और सरिता के बीच की नजदीकियां बढ़ने लगीं थीं, जिसके बाद दोनों के बीच प्यार पनपने में बिल्कुल देर नहीं लगी. आठ साल तक एक-दूसरे को डेट करने के बाद, इस ब्यूटीफुल कपल ने साल 1999 में शादी कर ली. ये शादी पूरी तरह से एक ट्रेडिशनल तमिल वेडिंग थी, जिसमें इन दोनों के करीबी दोस्त और फैमिली के लोग ही शामिल हुए थे. इस प्रेमी जोड़े की लव स्टोरी की सबसे दिलचस्प बात ये है कि माधवन के फिल्म इंडस्ट्री में नाम कमाने से पहले ही ये लव बर्ड्स शादी के बंधन में बंध गए थे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News