गोलीकांड मामले में रामगढ़ की विधायक ममता देवी दोषी करार, भेजी गयीं जेल

ramgarh mla mamta devi

रामगढ़ : इनलैंड पावर गोलीकांड मामले में हजारीबाग के एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट ने रामगढ़ की विधायक ममता देवी को दोषी ठहराया है. साथ ही विधायक सहित अन्य आरोपियों को दोषी मानते हुए कोर्ट ने जमानत देने से इनकार कर दिया. वहीं, सभी दोषियों को जेल भेज दिया गया. 12 दिसंबर को सजा सुनाई जाएगी.

फायरिंग में हो गयी थी कई लोगों की मौत
20 अगस्त 2016 को रामगढ़ के गोला थाना क्षेत्र में आइपीएल कंपनी को बंद कराने को लेकर कंपनी के सामने ममता देवी के नेतृत्व नागरिक चेतना मंच के बैनर तले 150-200 संख्या में ग्रामीण धरना पर बैठे थे. इस दौरान ग्रामीण उग्र हो गये थे. पुलिस को आत्मरक्षा और बचाव को लेकर फायरिंग करनी पड़ी थी. इस घटना में कुछ लोगों की मौत और दो से तीन दर्जन लोग घायल भी हो गये थे. सुरक्षा में बतौर मजिस्ट्रेट तैनात सीओ, बीडीओ और थानेदार सहित अन्य जवानों को भी चोट आयी थी. गोली कांड को लेकर रजरप्पा और गोला थाना कांड में चार अलग अलग प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. इनमें गोला थाना में कांड संख्या 65/2016 , रजरप्पा थाना कांड संख्या 81/2016, गोला थाना कांड संख्या 64/2016 शामिल है.

सरकार की ओर मुकदमे की पैरवी कर रहे अधिवक्ता शंकर बनर्जी ने कहा कि वे 12 दिसंबर को अदालत में सजा के बिन्दुओं पर सुनवाई के दौरान सभी अभियुक्तों को अधिक से अधिक सजा देने का आग्रह करेंगे। अदालत ने जितनी भी धाराओं के तहत ममता देवी को दोषी करार दिया है, इससे यह उम्मीद की जा रही है कि न्यायालय इन्हें लंबी सजा मिलेगी। कानून के जानकारों का मानना है कि ममता देवी को जिन धाराओं को दोषी करार दिया गया है, उसके अनुसार उन्हें 3 वर्ष से अधिक की सजा हो सकती है। हालांकि अदालत का फैसला क्या आता है, इसका अनुमान लगाना उचित होता।

कांग्रेस विधायक ममता देवी को न्यायालय की ओर से दोषी करार दिए जाने के साथ ही उन्हें पुलिस हिरासत में ले लिया। अदालत ने उनके साथ मनोज कुजहर, राजू साव, दिलदार हुसैन, आदिल इनामी, अभिषेक सोनी, राजीव जायसवाल और बालेश्वर भगत को भी दोषी करार दिया है।

वर्ष 2019 के विधानसभा में पहली बार कांग्रेस टिकट पर निर्वाचित ममता देवी को यदि अदालत से 2 वर्ष से अधिक की सजा होती है, तो कानून के मुताबिक उनकी विधानसभा सदस्यता भी खत्म हो जाएगी। ममता देवी ने रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र में पूर्व मंत्री और आजसू पार्टी सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी की पत्नी को पराजित कर लंबे समय के बाद ये सीट कांग्रेस के खाते में डालने में सफलता हासिल की थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News