अमेरिका से आकर बेटे दिया अनूठा तोहफा…सेवानिवृत्त मां को हेलीकॉप्टर से लेकर घर पहुंचा, कहा- आज जो भी हूं मां की बदौलत हूं

maa ke retire par beta helicopter se pahuncha

सार
अजमेर में एक मां को सरकारी स्कूल से सेवानिवृत्ति पर उसके बेटे ने (Retired teacher farewell on helicopter in Ajmer) यादगार तोहफा दिया है. सेवानिवृत्ति के बाद बेटा अपनी मां को हेलीकॉप्टर से घर लेकर आया. मां-बेटे के इस प्रेम को देख हर कोई तारीफ करता रहा.

राजस्थान के अजमेर में एक मां के लिए उसका रिटायरमेंट यादगार बन गया। क्योंकि जब टीचर सुशीला चौहान रिटायर हुईं तो उनका बेटा उनको हेलीकॉप्टर से लेने पहुंचा। योगेश अपने घर के समीप तोपदड़ा स्कूल के खेल मैदान तक हेलीकॉप्टर में अपनी मां को लेकर आया। मां के प्रति बेटे के अनुराग की चर्चा चारों तरफ हो रही है।

बता दें, तोपबड़ा निवासी योगेश चौहान अमेरिका में एक कंपनी में इंजीनियर पद पर कार्यरत हैं। योगेश अपनी पत्नी और बच्चों के साथ 14 साल से अमेरिका में ही रह रहे हैं। योगेश चौहान की मां सुशीला चौहान चोपड़ा स्कूल के समीप रहती हैं। पीसांगन पंचायत समिति क्षेत्र में केसरपुरा ग्राम पंचायत में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय से शनिवार को वह रिटायर हुईं। स्कूल से सेवानिवृत्ति के बाद टीचर सुशीला देवी को घर ले जाने के लिए स्कूल के खेल मैदान पर हेलीकॉप्टर खड़ा मिला।

दरअसल, अपनी शिक्षक मां सुशीला चौहान के रिटायरमेंट पर अमेरिका से परिवार के साथ योगेश चौहान चार दिन पहले ही अजमेर आए। योगेश चौहान ने आते ही जिला प्रशासन से हेलीकॉप्टर के लिए परमिशन ली।

मेरे पास नहीं है कोई शब्दः सुशीला चौहान ने बताया कि योगेश चौहान अमेरिका में जॉब करता है. बेटे की चाहत थी कि वह मुझे केसरपुरा मेरी स्कूल से अजमेर हेलीकॉप्टर में लेकर आए. यह उसने कर दिखाया. इसके लिए मेरे पास कोई शब्द नहीं है. मुझे बहुत खुशी हो रही है कि मेरे बेटे ने मेरी इच्छा पूरी की. मेरी इच्छा पोती को हेलीकॉप्टर में लाने की थी, लेकिन मेरे बेटे ने मुझे हेलीकॉप्टर में सैर करवा दी. मां के प्रति बेटे का प्रेम देखकर लोगों का दिल भर आया. मां को हेलीकॉप्टर के जरिए बेटा अपने घर के समीप तोपदड़ा स्कूल के खेल मैदान पहुंचा. यहां भी लोगों का तांता लगा रहा. मां के प्रति बेटे के प्यार को देख कर लोग गदगद होते हुए नजर आए.

क्या काम करते है योगेश
योगेश चौहान पेशे से इंजीनियर हैं और फिलहाल अमेरिका में सेवारत हैं। जब वह अपनी मां के रिटायरमेंट पर गांव टेपदरा पहुंचे तो उन्हें लगा कि वह अपनी मां के रिटायरमेंट को यादगार बना सकते हैं. इसलिए उसने हेलीकॉप्टर की सवारी की योजना बनाई।

शिक्षिका सुशीला चौहान जब हेलीकॉप्टर से स्कूल से रवाना हुईं तो चारों तरफ जश्न का माहौल था। उन्हें देखने के लिए सैकड़ों की संख्या में लोग भी जमा हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News