तंत्र मंत्र में सगी बहन की बलिः जीभ, स्तन और प्राइवेट पार्टकाट ली, अंतड़ियां निकाली और जला दी लाश, 5 गिरफ्तार

jharkhand garhwa tantr mantr murder

सार
झारखंड के गढ़वा में गुड़िया नामक एक महिला का उसकी अपनी ही बहन और बहनोई दिनेश उरांव ने तंत्र सिद्धि के लिए इस्तेमाल किया. पहले दिन उन्होंने गुड़िया की जीभ को काट दिया. दूसरे दिन उसके स्तन और प्राइवेट पार्ट को काटकर उसे मौत के घाट उतार दिया. यह सब मृतक महिला के पति के सामने किया गया.

Jharkhand News : गढ़वा जिला के नगर उंटारी अनुमंडल मुख्यालय में मानवता को झकझोर देने वाली एक घटना सामने आयी है. डायन बिसाही और जादू टोना को लेकर हत्या का मामला सामने आया है. इसके चक्कर में भक्तिन बनी एक महिला ने अपने पति के साथ मिलकर अपनी ही सगी बहन की बलि दे दी. इस पूरे मामले पर पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में लिया है.

मामला नगर उटारी थाना क्षेत्र के जंगीपुर गांव का है. सात दिन पहले गुड़िया नामक एक महिला का उसकी अपनी ही बहन और बहनोई दिनेश उरांव ने तंत्र सिद्धि के लिए इस्तेमाल किया. पहले दिन उन्होंने गुड़िया की जीभ को काट दिया. उसके बाद दूसरे दिन उसके स्तन और प्राइवेट पार्ट को काटकर उसे मौत के घाट उतार दिया. यह सब मृतक महिला के पति के सामने किया गया.

पति ने बताया कि उसने अपनी और बच्चों की जान बचाने के लिए ये सब होता देखता रहा. ओझा बहन और बहनोई ने महिला के शव को मायके रंका थाना क्षेत्र के खुरा गांव में ले जाकर जला दिया और चुपचाप घर लौट गये. हालांकि जब पति को अपनी पत्नी का याद आने लगी तो उसने लोगों को पूरी घटना की जानकारी दी.

घटना की जानकारी मिलते ही नगर उटारी पुलिस आनन फानन में पीड़ित के घर पहुंच कर पति से पूछताछ किया. पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया. उनसे पूछताछ की जा रही है. घटना से इलाके में दहशत का माहौल है. सबसे बड़ी बात ये कि घटना के पांच दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी. मृतक महिला के पति मुन्ना ने बताया कि उसके सामने आरोपियों ने पूरी घटना को अंजाम दिया. पुलिस अधिकारी प्रमोद केशरी ने बताया कि महिला की हत्या हुई है. हमलोग इसकी जांच कर रहे हैं.

हत्या के बाद मामले को दबाने की मिली थी हिदायत
गुड़िया देवी की हत्या के बाद टोला में बैठक हुई। इसमें मामले को दबाने का दबाव मुन्ना उरांव पर बनाया गया। बताया जाता है कि मौके पर उपस्थित वार्ड संख्या 6 के पार्षद पति योगेश उरांव ने मामले को दबाने की हिदायत दी। मामला प्रकाश में आने के बाद योगेश ने कहा कि हत्या के बाद परिवार में झगड़ा होने लगा तो पंचायती के लिए बैठक हुई थी। इसमें मृतका के पति मुन्ना उरावं ने श्राद्ध कर्म के बाद सब कुछ बताने और मामले को आगे बढ़ाने को कहा था। इसलिए इसकी सूचना पुलिस को नहीं दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News