हिजाब का विरोध कर रहीं ईरान की महिलाओं को सद्गुरु का समर्थन, कहा- “ऐसी संस्कृति खत्म हो”

sadguru on hijab

सार
ईशा फाउंडेशन (Isha Foundation) के संस्‍थापक जग्‍गी वासुदेव ‘सद्गुरू’ (Jaggi Vasudev ‘Sadguru’) ने कहा है कि महिलाओं को तय करने दें कि वे कैसे कपड़े पहनना चाहती हैं. उन्‍होंने इस ट्वीट में हैशटैग ईरान (Iran), हिजाब (Hijab) और महसा अमिनी (MahsaAmini) भी जोड़ा है.

Sadguru Remarks on Hijab : 16 सितंबर को पुलिस हिरासत में 22 साल की महसा अमिनी (Mahasa Amini) की मौत के बाद से ईरान (Iran Hijab Row) की महिलाएं आक्रोशित हैं। महिलाएं हिजाब और कट्टरपंथी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहीं हैं। वे हिजाब को आग लगाकर अपने गुस्से का इजहार कर रहीं हैं।

आध्यात्मिक नेता और धर्मगुरु सद्गुरु ने ईरान की महिलाओं द्वारा हिजाब के खिलाफ किए जा रहे विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि महिलाओं को तय करने देना चाहिए कि वे किस तरह के कपड़े पहनना चाहती हैं। अपने ट्वीट में सद्गुरु ने कहा कि महिलाओं को कैसे कपड़े पहनने चाहिए यह तय न तो किसी धार्मिक व्यक्ति को करना चाहिए और न ही किसी भ्रष्टाचरण वाले व्यक्ति को। महिलाओं को तय करने दें कि वे कैसे कपड़े पहनना चाहती हैं। किसी को इस बात के लिए सजा दी जाए कि उसने क्या पहना है, इस संस्कृति को समाप्त किया जाना चाहिए। चाहे यह धार्मिक परंपरा हो या कुछ और।

लिस हिरासत में हुई थी महसा अमिनी की मौत
गौरतलब है कि 16 सितंबर को पुलिस हिरासत में 22 साल की महसा अमिनी की मौत हो गई थी। ईरान की नैतिकता पुलिस ने हिजाब नहीं पहने होने के चलते महसा अमिनी को हिरासत में लिया था। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने महसा अमिनी के साथ धक्का-मुक्की की थी और उसे घसीटकर कार में डाला था। इस घटना का वीडियो वायरल हुआ था। हिरासत में महसा की मौत होने से ईरान की महिलाओं का गुस्सा भड़क गया है।

प्रत्यक्षदर्शियों ने दावा किया है कि अमिनी को पुलिस वैन के अंदर पीटा गया था. हिरासत में रखते हुए उसे पहले अस्पताल ले जाया गया, जहां वह कोमा में चली गई और उसकी मौत हो गई. इसका महिलाओं के बीच देशव्यापी विरोध शुरू हो गया है. ईरानी पत्रकार और कार्यकर्ता मसीह अलीनेजाद ने एक वीडियो ट्वीट किया, जिसमें कुछ महिलाएं अपनी चोटी काट रही हैं और हिजाब को जला रही हैं. उन्होंने लिखा कि ‘हिजाब पुलिस द्वारा महसा अमिनी की हत्या के विरोध में ईरानी महिलाएं अपने बाल काटकर और हिजाब जलाकर अपना गुस्सा दिखा रही हैं.’

अब ईरान में महिलाएं ख़ुद से अपने बाल काटकर वीडियो पोस्ट कर रहीं है. अलग-अलग शहरों में महिलाएं इकट्ठा होकर सामूहिक रूप से अपने हिजाब जला रही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News