देवी-देवताओं के अपमान के विरोध में अजमेर में सड़क पर उतरे साधु-संत !

AJMER SADHU SANT PROTEST

सार
देवी-देवताओं के अपमान के विरोध में हिंदू समाज की ओर से राजस्थान के अजमेर में कड़ी सुरक्षा में शांति मार्च निकाला गया। शांति मार्च अजंता पुलिया से रवाना हुआ जो विभिन्न मार्गों से होता हुआ कलेक्ट्रेट पहुंचा।

Rajasthan : देवी-देवताओं के अपमान के विरोध में रविवार को हिन्दू समाज की ओर से शांति मार्च निकाला गया। कलेक्ट्रेट पर पहुंचने के बाद कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान मौके पर पुलिस के 20 एसएचओ और एक हजार से ज्यादा जवान तैनात रहे। इस दौरान महिला संत ने कहा कि हिंदुओं की भावनाओं का अपमान हो रहा है। अभद्र टिप्पणियां की जा रही है। बेटियां लव जेहाद का शिकार हो रही हैं। धमकी देकर मारा जाता है। तेजाब फेंका जाता है। इन सब को रोकना हमारा संकल्प है। इसलिए रैली निकाली जा रही है।

शांति मार्च परशुराम मंदिर, लोको ग्राउंड के पास (अजंता पुलिया के पास) से प्रारम्भ हुआ। बाटा तिराहा होते हुए केसर गंज, गोल चक्कर, पड़ाव, कवंडसपुरा, मदार गेट चौराहा, गांधी भवन और कचहरी रोड होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचा और यहां हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। सकल हिंदू समाज की ओर से आयोजित इस मार्च से कई इलाकों में आवाजाही प्रभावित हुई। मार्च के रूट पर ट्रैफिक व्यवस्था के लिए विशेष पुलिस जाप्ता तैनात किया गया था और शहर में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था थी। एक हजार से ज्यादा पुलिस और आरएएसी के जवानों को तैनात कर जगह-जगह बेरिकेडिंग की गई थी।

दस ड्रोन कैमरों की मदद से पुलिस इलाके पर नजर रखे हुए थी। सुरक्षा के लिए मार्च को तीन भागों को बांटा अग्र, मध्य और पश्च भाग में बांटा गया था और तीनों पर आला अधिकारियों को तैनात किया गया था। संकल्प हिंदू समाज शांति मार्च निकालने के बाद अजमेर कलेक्ट्रेट पर पहुंचा और जिला कलेक्टर अंशदीप को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया। हिंदू समाज के लोगों ने ज्ञापन के जरिए राष्ट्रपति से मांग की है कि भारतवर्ष की सनातन संस्कृति को खंडित करने के षड्यंत्र कर हिंदू देवी देवताओं का अपमान करने वालों पर कार्रवाई जाए।

राष्ट्रपति से कार्रवाई की मांग
संकल्प हिंदू समाज शांति मार्च निकालने के बाद अजमेर कलेक्ट्रेट पर पहुंचा और जिला कलेक्टर अंशदीप को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया। हिंदू समाज के लोगों ने ज्ञापन के जरिए राष्ट्रपति से मांग की है कि भारतवर्ष की सनातन संस्कृति को खंडित करने के षड्यंत्र हिंदू देवी देवताओं का अपमान एवं पर अभद्र टिप्पणियां आगजनी व पथराव धार्मिक उन्माद तथा हिंदू बेटी मुकुल शर्मा को धमकी देने वालों के खिलाफ कार्रवाई जाए। राष्ट्रपति के नाम दिए ज्ञापन में हिंदू समाज में बताया कि देशभर में समुदाय विशेष के कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा भारत की सनातन संस्कृति पर आघात के जा रहे हैं। विभिन्न प्रकार की षड्यंत्र को रचते हुए हिन्दू देवी देवताओं का अपमान किया जा रहा है। जिसे लेकर अजमेर में विशाल मौन जुलूस निकाला गया।

व्यापारियों ने दिया समर्थन
हिंदू समाज के रविवार को आयोजित हुए शांति मार्च को लेकर शहर भर में व्यापार संघ की ओर से समर्थन दिया गया। व्यापारियों ने कुछ घंटों के लिए अपनी दुकानें बंद कर शांति मार्च में शामिल हुए और शांतिपूर्वक तरीके से जुलूस निकालते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News