थाने में कुंडली मार कर बैठे थे 10 पुरुष जवान, महिला संध्या टोपनो रात में भेज दिया गया पीएलएफआइ प्रभावित क्षेत्र, CBI जांच की मांग

Sandhya Topno Murder Case

Sandhya Topno Murder Case: जांबाज महिला दारोगा संध्या टोपनो की पशु तस्करों द्वारा बेरहमी से कुचल कर की गई हत्या के मामले में भाजपा ने राज्य सरकार के पूरे सिस्टम पर सवाल उठाए हैं। भाजपा ने राज्य पुलिस से सवाल कर पूछा है कि जब थाने में दस पुरुष पदाधिकारी हैं तो संध्या टोपनो की रात्रि ड्यूटी क्यों लगाई गई। यह भी पूछा कि क्या उनको डाहु जैसे पीएलएफआइ प्रभावित क्षेत्र में रात के तीन बजे निहत्थे भेजा गया और पिकअप ट्रक की गाय कहां हैं।

बाबूलाल मरांडी ने हेमंत से मांगा जवाब
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव द्वारा उठाए गए सवालों को भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने गंभीर बताते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से सवाल किया है। बाबूलाल मरांडी ने कहा कि जिस थाने में दस-दस पुरुष पुलिस पदाधिकारी कुंडली मारे हुए हैं, वहां महिला पदाधिकारी को रात में बिना पर्याप्त पुलिस बल के भूखे-भेड़िए समान पशु तस्करों से लड़ने मौत के मुंह में क्यों भेजा गया। उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से इस सवाल का जवाब मांगा है।

रघुवर दास ने की सीबीआइ जांच की मांग
पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने एसआई संध्या टोपनो हत्या मामले में सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि राज्य में पशु तस्करों का सिंडिकेट कार्यरत है, उस पर लगाम लगाने की जरूरत है। हेमंत सरकार के आने के बाद से पशु तस्करों का मनोबल काफी बढ़ गया है। रूपा तिर्की मौत के बाद झारखंड की एक और बेटी को माफियाओं के कारण अपनी जान की कीमत चुकानी पड़ी है। उन्होंने पीड़िता के परिजनों को एक करोड़ रुपए मुआवजा देने की भी मांग की।

मुख्य तस्कर को जल्द गिरफ्तार करे रांची पुलिस
पिकअप वैन के चालक को गिरफ्तार किया गया है. वहीं मुख्य तस्कर को जल्द गिरफ्तार करने का निर्देश रांची पुलिस को दिया गया है.

नीरज सिन्हा, डीजीपी

रांची में पुलिस पर होते रहे हैं हमले
24 अक्तूबर 2021: अरगोड़ा चौक पर पिकअप वैन के चालक राजू कुमार ने ड्यूटी पर तैनात ट्रैफिक जवान धीरेंद्र कुमार राय को कुचल कर मार डाला था. भागने के दौरान वैन का गुल्लक डिबडीह पुल के पास टूट गया और चालक पकड़ा गया.

18 मार्च 2021: चुटिया थाना क्षेत्र के मकचुंद टोली में छिनतई करनेवाले अपराधियों ने सब इंस्पेक्टर सुभाष चंद्र लकड़ा के पैर में गोली मार दी थी. हालांकि दोनों अपराधी मौका देख भाग निकले.

31 जुलाई 2020 : तुपुदाना ओपी के एएसआइ कामेश्वर रविदास की हत्या कर अपराधियों ने शव को एक खदान में फेंक दिया था. इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था. इसके बाद आपसी विवाद में हत्याकांड की बात सामने आयी थी.

क्या गो तस्कर हमारी शासन व्यवस्था से भी ज्यादा शक्तिशाली हैं?

अचरज की बात यह है कि हरियाणा में DSP को कुचलने की घटना पर चुप बैठी भारतीय जनता पार्टी झारखण्ड मामले में आरोप लगाती है कि गो तस्करों को राज्य सरकार का संरक्षण प्राप्त है, इसलिए ऐसी घटनाएं हो रही हैं। हो सकता है भाजपा ही सही हो, तो फिर सवाल उठता है कि भाजपा शासित राज्यों में इस तरह की तस्करी क्यों नहीं रुकती?

कोई सरकार नहीं चाहती कि रेत माफिया पनपे, माइनिंग माफिया फले-फूले या गो तस्कर अपनी मनमानी करते रहें लेकिन इसके बावजूद यह सब हो तो रहा है! आखिर क्यों? इसका मतलब है कि हमारी व्यवस्था में ही कहीं या कई छेद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News