पीएम मोदी के दौरे से पहले देवघर एयरपोर्ट पर विमान का सेकेंड ट्रायल, अगले महीने उद्घाटन के लिए आने वाले है पीएम !

deoghar nishant second airport trail

सार
प्रधानमंत्री मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रम को देखते हुए प्रशासनिक स्तर पर भी सभी कार्यों को वक्त रहते पूरा करने के निर्देश जारी किए गए हैं। वहीं जिस अप्रोच सड़क को लेकर पिछले कई महीनों से सियासी रस्साकसी जारी थी अब उसका कार्य भी पूरा हो चुका है।

PM Modi will come to Deoghar : देवघर एयरपोर्ट पर इंडिगो की 180 सीटर एयर बस का सेकेंड ट्रायल लैंडिंग किया गया। इस दौरान छह बार लैंडिंग और टेकऑफ की प्रक्रिया चली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संभावित देवघर दौरे को लेकर बिना किसी प्रसार के ट्रायल हुआ। देवघर का ही पायलट गौरव निशांत दोबारा कोलकाता से एयर बस लेकर पहुंचा। सफल ट्रायल लैंडिंग के बाद दोबारा एयर बस ने कोलकाता के लिए उड़ान भरी।

PM मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रम को देखते हुए प्रशासनिक स्तर पर भी सभी कार्यों को वक्त रहते पूरा करने के निर्देश जारी किए गए हैं। वहीं जिस अप्रोच सड़क को लेकर पिछले कई महीनों से सियासी रस्साकसी जारी थी अब उसका कार्य भी पूरा हो चुका है। ऐसे में अब देवघर समेत संथाल परगना की जनता को यह यकीन हो चला है कि प्रधानमंत्री तय तारीख को अपने प्रस्तावित कार्यक्रम के दौरान देवघर समेत संथाल परगना के लोगों को यह सौगात देंगे।

देश-विदेश से बाबाधाम आने वाले श्रद्धालुओं को होगी सुविधा
एक रिपोर्ट के मुताबिक, देवघर एयरपोर्ट से नियमित उड़ान सेवा की शुरुआत होते ही इलाके में विकास की रफ्तार तेज होगी, जिससे रोजगार के नए रास्ते खुलेंगे। पर्यटन उद्योग के साथ ही हास्पिटिलिटी सेक्टर और एमएसएमई सेक्टर में भी तेजी आएगी। डॉ निशिकांत दुबे का दावा है कि, राज्य के पिछड़े इलाकों में शुमार संथाल परगना की तस्वीर आनेवाले वक्त में बदली सी नजर आएगी।

साल 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही किया था एयरपोर्ट और एम्स का शिलान्यास
साल 2018 में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही देवघर एम्स और इंटरनेशनल स्तर के देवघर एयरपोर्ट का शिलान्यास किया था। अब इसका उद्घाटन भी प्रधानमंत्री मोदी ही अपने कार्यकाल के दौरान करेंगे। आपको बता दें कि, देवघर एयरपोर्ट के चालू हो जाने से न सिर्फ देश-विदेश से देवघर की कनेक्टिविटि बढ़ेगी बल्कि, इलाके का औद्यौगिक विकास भी होगा। वहीं, देवघर एम्स के नए 250 बेड वाले अस्पतल के भी शुरू हो जाने से झारखंड समेत बंगाल और सीमावर्ती बिहार के लोगों को बेहतर इलाज की सुविधा मिल सकेगी। फिलहाल एम्स की ओपीडी सेवा जारी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News