Delhi दंगों के आरोपी Shahrukh Pathan का Video Viral; मोहल्ले में Hero की तरह स्वागत !

shahrukh-pathan-viral-video

सार
Shahrukh Pathan Delhi Riots: देश की राजधानी दिल्ली में साल 2020 में हुए पुलिसकर्मी पर गन तानने वाला शाहरुख पठान (Shahrukh Pathan) कुछ दिन पहले अपने बीमार पिता को देखने के लिए चंद घंटों की कस्टडी परोल पर जेल से बाहर आया था. इस दौरान घर पहुंचने पर उसका स्वागत किसी हीरो की तरह हुआ.

Shahrukh Pathan Viral Video: दिल्ली में साल 2020 में हुए नॉर्थ-ईस्ट दंगों (North-East Riots) के दौरान मौजपुर इलाके में पुलिसकर्मी पर बंदूक तानने के साथ गोली चलाने वाले शाहरुख पठान (Shahrukh Pathan) का वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में देखा जा सकता है कि दंगा फैलाने के कई आरोपियों में से एक शाहरुख पठान जब अपने घर पहुंचा तो मोहल्ले में उमड़ी भीड़ ने किसी हीरो की तरह उसका स्वागत किया.

परोल पर घर आया था पठान
दिल्ली पुलिस (Delhi Police) से मिली जानकारी के मुताबिक सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा शाहरुख पठान की ये वीडियो 23 मई 2022 को बनाया गया थब. जब दंगों का आरोपी पठान सिर्फ 4 घंटे की कस्टडी परोल पर अपने बीमार पिता से मिलने अपने घर आया था. इस मुलाकात के बाद में शाहरुख को वापस जेल भेज दिया गया था. इस घटनाक्रम के कई छोटे छोटे वीडियो बनाए गए हैं जिनमें म्यूजिक और गाने लगाकर वायरल किया गया.

हाथ हिलाते, जुल्फें संवारते आगे बढ़ता रहा आरोपी
वायरल हो रहे इस वीडियो में देखा जा सकता है कि शाहरुख अपने बीमार पिता को देखने के लिए जब पुलिस हिरासत में अपने मोहल्ले में पहुंचा, तब कुछ लोगों ने गाने बजाकर उसका स्वागत किया। यही नहीं, भीड़ में से कुछ लोग ऐसे भी थे, जो उसके समर्थन में नारे लगा रहे थे। वहीं, वीडियो में देखा जा सकता है कि शाहरुख इस दौरान किसी मशहूर शख्सियत की तरह हाथ हिला-हिलाकर बधाइयां कबूल कर रहा है। कई बार वह बड़ी अदाओं अपनी जुल्फें भी सवारता दिखाई दे रहा है।

बता दें कि 23 फरवरी 2022 को पूर्वी दिल्ली के जफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, चांदबाग, शिव विहार, भजनपुरा, यमुना विहार और मुस्तफाबाद इलाके में हिंसा भड़क गई थी। इसमें कम से कम 42 लोगों की मौत हो गई और करीब दो सौ लोग घायल हो गए थे।

पुलिस ने कई धाराओं में किया था मामला दर्ज
वहीं पुलिस ने बाद में इस मामले में एक रोहित शुक्ला की शिकायत पर एक एक केस और दर्ज किया था, जिसने दावा किया था कि पठान ने दंगा और हिंसा के दौरान गोली भी चलाई थी. दिल्ली की एक अदालत ने पिछले साल पठान के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 186, 188 के तहत आरोप तय किए थे. साल 2020 में पूर्वोत्तर दिल्ली के कई हिस्सों में 23 फरवरी से 25 फरवरी के बीच सांप्रदायिक दंगे हुए, इस हिंसा में 53 लोगों की जान चली गई और 700 से अधिक लोग घायल हो गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News