मैट्रिक पास बेरोजगारों को भत्ता देगी सोरेन सरकार, जानिए आपको कितनी राशि मिलेगी !

matric paas bhatta jharkhand

Heighlight

बेरोजगारी भत्ता झारखण्ड ऑनलाइन पोर्टल | Berojgari Bhatta Registration | बेरोजगारी भत्ता झारखण्ड ऑनलाइन पंजीकरण | Jharkhand Berojgari Bhatta Registration Form

Jharkhand News : सोरेन सरकार की महत्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना स्वीकृत होने तथा इसके लिए पर्याप्त राशि होने के बावजूद शुरू नहीं हो सकी। राज्य सरकार ने बजट में घोषणा के बाद पिछले वर्ष इस येाजना की स्वीकृति दे दी थी। इसके लिए 87 करोड़ रुपये के बजट प्रविधान भी किए गए। लेकिन योजना शुरू नहीं हो पाने के कारण यह राशि वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर सरेंडर करने पड़े। अब इस योजना में बदलाव करते हुए नए सिरे से इसकी लांचिंग की तैयारी चल रही है।

पिछले साल ही मिलनी थी छात्रों को राशि
पिछले साल स्वीकृत योजना में उन बेरोजगारों को ही प्राेत्साहन राशि (बेरोजगारी भत्ता) मिलना था, जिन्होंने राज्य के सरकारी तकनीकी संस्थानों से तकनीकी शिक्षा प्राप्त की है। श्रम, नियोजन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास विभाग द्वारा इस योजना को लेकर जारी संकल्प में इसे स्पष्ट किया गया कि सरकारी विभागों द्वारा संचालित कौशल प्रशिक्षण के तहत अल्पकालीन प्रशिक्षण प्राप्त करनेवाले, सरकारी आइटीआइ, पालीटेक्निक से प्रशिक्षण प्राप्त करनेवाले एवं अन्य सरकारी व्यावसायिक पाठ्यक्रम (जो नेशनल स्किल क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क से संबद्ध हो) उत्तीर्ण बेरोजगारों को ही इस योजना का लाभ मिलेगा। अब इसमें बदलाव किया जा रहा है। इसके तहत अब मैट्रिक उत्तीर्ण सभी स्थानीय बेरोजगारों को यह भत्ता दिया जाएगा। इसके बलए बजट की राशि भी बढ़ाई जा रही है।

एक बार में पांच हजार रुपये भत्ता देने का था प्रविधान
पूर्व योजना के तहत अर्हताधारी आवेदकों को एक बार में पांच हजार रुपये प्रोत्साहन भत्ता के रूप में देने का प्रविधान किया गया था। विधवा, परित्यक्ता, आदिम जनजाति, दिव्यांग को 50 फीसद अतिरिक्त राशि दी जानी थी।

पिछले साल जिलों में मंगा लिए गए थे आवेदन
योजना स्वीकृत होने के बाद पिछले साल जिलों में भत्ता प्राप्त करने के लिए बेरोजगारों से आवेदन भी मंगा लिए गए थे। बाद में राज्य सरकार ने उसपर रोक लगा दी। मंगाए गए आवेदनों में यह शर्त रखी गई थी कि आवेदक को झारखंड का निवासी होना चाहिए तथा बेरोजगार होना चाहिए। उसे न तो सार्वजनिक न ही निजी क्षेत्र से जुड़ा होना चाहिए। स्वरोजगार करनेवाले भी इस योजना के पात्र नहीं थे। आवेदक को झारखंड के नियोजनालयों में निबंधित होना जरूरी था। आवेदक किसी ऐसे अपराध में अभियुक्त न हो जिसकी वजह से 48 घंटे या इससे अधिक के कारावास की सजा हुई हो। नियोजनालय में निबंधन की तिथि को आवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक तथा 36 वर्ष से कम होनी चाहिए। अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति श्रेणी के आवेदकों को अधिकतम आयु सीमा में नियमानुसार छूट दी जाएगी। ये सभी शर्तें नए प्रविधान में भी लागू रहेंगे।

पांच माह में ही किया गया था संशोधन
इस योजना की स्वीकृति 19 मार्च 2021 को ही मिली थी। पांच माह में ही 19 अगस्त 2021 में इसमें आंशिक संशोधन करते हुए कई नियमों को स्पष्ट किया गया। इसके बाद लगभग 10 माह में भी यह योजना शुरू नहीं हो सकी।

बेरोजगारी भत्ता झारखण्ड 2022 का उद्देश्य
जैसे की आप लोग जानते है बहुत से ऐसे युवा का जो शिक्षित तो है लेकिन उन्हें कोई रोजगार नहीं मिल पा रहा है । जिसकी वजह से युवा और उनके परिवार अच्छे से जीवन यापन नहीं कर पाते और उनकी आर्थिक स्थिति भी कमज़ोर हो जाती है इस सभी परेशानियों को देखते हुए झारखण्ड सरकार ने इस बेरोजगारी भत्ता झारखण्ड 2022 योजना को शुरू किया है इस योजना के तहत राज्य के सभी बेरोजगार युवाओ को बेरोजगारी भत्ता प्रदान किया जायेगा ।इस बेरोजगारी भत्ते की सहायता से राज्य के बेरोजगार युवा अच्छे से जीवन यापन कर सकेंगे । यह बेरोजगारी भत्ता युवाओ को तब तक दिया जायेगा जब तक उन्हें कोई रोजगार नहीं मिल जाता ।इस योजना का लाभ राज्य के सभी बेरोजगार युवा उठा सकते है ।

Berojgari Bhatta Scheme 2022 के दस्तावेज
मोबाइल नंबर
आधार कार्ड
बैंक खाता विवरण (आवेदक का बैंक अकाउंट आधार से लिंक होना चाहिए)
सरकारी संस्थान का तकनीकी योग्यता प्रमाण पत्र
यदि आवेदक स्पेशल कैटेगरी से है तो आवेदक को विधवा, परित्यक्ता, आदिम जनजाति, दिव्यांग आदि प्रमाण पत्र
नियोजनालय का रजिस्ट्रेशन नंबर (यदि रजिस्ट्रेशन नंबर 3 साल पुराना है तो इस स्थिति में नवीकरण आवश्यक है)
स्थाई पते का प्रमाण
शपथ पत्र (इस शपथ पत्र में आवेदक को यह घोषणा करनी होगी कि वह किसी रोजगार या फिर स्वरोजगार से जुड़ा नहीं है)

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News