RBI कर रहा है बड़े बदलाव पर विचार, नोट पर दिख सकती है रवींद्रनाथ टैगोर और अब्दुल कलाम की फोटो

indian currency image change

सार
भारतीय नोट पर नोबेल पुरस्कार से सम्मानित विश्व कवि रवींद्र नाथ टैगोर और मिसाइलमैन कलाम की भी फोटो दिख सकती है. दरअसल करेंसी नोटों पर कई अंकों के वॉटरमार्क को शामिल करने की संभावनाओं का पता लगाने के लिए ऐसा किया जा रहा है.

Indian Currency Images: भारतीय मुद्रा, यानी रुपए पर अभी महात्मा गांधी की तस्वीर है। जल्द ही कुछ नोटों पर नोबेल विजेता कवि रवींद्रनाथ टैगोर और देश के 11वें राष्ट्रपति मिसाइलमैन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की वाटरमार्क तस्वीर देखने काे मिल सकती है। रिपोर्ट्स के अनुसार, केंद्रीय वित्त मंत्रालय, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) कुछ नोटों की एक सीरीज पर कलाम और टैगोर के वाटरमार्क का इस्तेमाल करने पर विचार कर रहा है।

टैगोर काे उनकी काव्य रचना गीतांजलि के लिए नोबेल पुरस्कार मिला था। वहीं, कलाम देश के महान वैज्ञानिक और व्यक्तित्वों में से एक हैं। अगर इन हस्तियों की तस्वीर नोटों पर छापी जाती है, ताे ऐसा पहली बार हाेगा, जब रिजर्व बैंक रुपए पर महात्मा गांधी के अलावा अन्य हस्तियों की तस्वीर छापेगा।

गांधी, टैगोर व कलाम के वाटरमार्क नमूने तैयार
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) और सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मीटिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया ने IIT-दिल्ली के एमेरिटस प्रो. दिलीप टी. साहनी को गांधी, टैगोर और कलाम के वॉटरमार्क के नमूनों के दो अलग-अलग सेट भेजे हैं। साहनी को दो सेटों में से चुनने व उन्हें सरकार द्वारा अंतिम विचार के लिए पेश करने को कहा गया है। वाटरमार्क की जांच करने वाले प्रो. साहनी इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंस्ट्रुमेंटेशन के विशेषज्ञ हैं। इसी साल उन्हें पद्मश्री सम्मान मिला।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पहली बार साल 1969 में 100 रुपये के नोट पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की फोटो छापी थी. यह वर्ष बापू का जन्म शताब्दी वर्ष था. बापू को स्मरण करने के लिए केंद्र सरकार ने भारतीय मुद्रा पर उनकी तस्वीर छापी थी. 100 के नोट पर तस्वीर के पीछे बापू का सेवाग्राम आश्रम था. बापू की मुस्कुराते हुए तस्वीर पहली बार 1987 में नोटों में छपी थी. सबसे पहले 500 रुपये की नोटों पर सन 1987, अक्टूबर महीने में बापू की तस्वीर छपी थी.

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जो तस्वीर आज हम भारतीय नोटों में देखते हैं, वह 1946 में ली गई थी. तब बापू वायसराय हाउस यानी अब के राट्रपति भवन में म्यांमार और भारत में ब्रिटिश सेक्रेटरी के रूप में काम करने वाले फ्रेडरिक पेथिक लॉरेंस से मुलाकात करने गए थे. वहीं पर खास बातचीत में बापू मुस्कुराए थे, वहीं यह तस्वीर को पोट्रेट के रूप में भारतीय मुद्राओं में अंकित किया गया. हालांकि तस्वीर किसने ली थी, इसका जिक्र नहीं मिलता है.

सोशल मीडिया पर होती है बोस-भगत सिंह की फोटो छापने की मांग
सोशल मीडिया यूजर्स आए दिन भारतीय मुद्रा पर क्रांतिकारी सुभाष चंद्र बोस और सरदार भगत सिंह की फोटो छापने की मांग करते आए हैं। अगर टैगोर और कलाम की फोटो नोट पर आती है तो आने वाले समय में बोस और भगत सिंह जैसे नेशनल हीरोज की फोटो भी नोट पर देखने मिल सकती है।

आईआईटी प्रोफेसर दिलीप शाहनी को भेजे गए नमूने
रिपोर्ट के मुताबिक वित्त मंत्रालय और आरबीआई के तहत आने वाले सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरोपरेशन ऑफ इंडिया की ओर से गांधी, टैगोर और कलाम के वाटरमार्क वाली तस्वीरों के नमूनों के दो अलग-अलग सेट आईआईटी दिल्ली एमेरिटस प्रोफेसर दिलीप टी शाहनी को भेज दिए गए हैं. प्रोफेसर शाहनी को दो सेटों में से एक सेट चुनकर सरकार के समक्ष पेश करने के लिए कहा गया है. कहा जा रहा है कि इसका अंतिम निर्णय उच्चतम स्तर की होने वाली बैठक में लिया जाएगा.

अमेरिकी डॉलर में भी देखने मिलती हैं अलग-अलग तस्वीरें
यदि आप सोच रहे हैं कि ऐसा क्यों हो रहा है तो बता दें कि करेंसी नोटों (Banknotes) पर कई अंकों के वॉटरमार्क (Watermark) को शामिल करने की संभावनाओं का पता लगाने के लिए ये कदम उठाया जा रहा है. यहां बता दें कि अमेरिका (America) में अलग-अलग मूल्यवर्ग के डॉलर्स (Dollars) में जॉर्ज वाशिंगटन, बेंजामिन फ्रैंकलिन, थॉमस जेफरसन, एंड्रयू जैक्सन, अलेक्जेंडर हैमिल्टन और अब्राहम लिंकन सहित 19वीं सदी के कुछ राष्ट्रपतियों (Presidents) की तस्वीरें हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News