18 साल के हमलावर ने पहले अपनी दादी को मारी गोली, फिर स्कूल पर किया अटैक, 23 की मौत

texas school masscare

सार
एक 18 वर्षीय बंदूकधारी ने टेक्सास के प्राथमिक स्कूल में 18 बच्चों समेत 21 लोगों की हत्या कर दी (Firing in Texas School). हमलावर भी मारा गया. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि अब एक्शन लेने का समय है.

अमेरिकी राज्य टेक्सास में मंगलवार दोपहर दिल दहलाने वाली खबर लाई। टेक्सास के युवाल्डे में रॉब एलिमेंट्री स्कूल में एक 18 वर्षीय युवक ने अंधाधुंध फायरिंग की। इस हमले में 18 छात्रों और 3 टीचर की मौत हो गई। 13 बच्चे, स्कूल के स्टाफ मेंबर्स और कुछ पुलिसवाले भी फायरिंग में घायल हुए हैं।

घटना के बाद राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि एक राष्ट्र के तौर पर हमें पूछना चाहिए कि गन लॉबी के खिलाफ हम कब खड़े होंगे और वो करेंगे जो हमें करना चाहिए। माता-पिता अपने बच्चे को कभी नहीं देख पाएंगे। बहुत सारी आत्माएं आज कुचली गई हैं। यह वक्त है जब हमें इस दर्द को एक्शन में बदलना है।

सबसे पहले दादी को मारी गोली : टेक्सास के गवर्नर ग्रेग एबॉट (Greg Abbott) ने हत्यारे की पहचान साल्वाडोर रामोस के रूप में की है. साल्वाडोर रामोस उसी इलाके का निवासी था जहां स्कूल स्थित है. उसने फायरिंग क्यों की इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है. एबॉट ने पहले कहा कि उसने भयानक रूप से धुआंधार फायरिंग की जिसमें 14 बच्चे और एक टीचर की मौत हो गई. बाद में उन्होंने कहा कि मरने वालों की संख्या बढ़कर 21 हो गई है. मृतकों में 18 बच्चे शामिल हैं. साल्वाडोर रामोस के रूप में पहचाने जाने वाले बंदूकधारी ने सबसे पहले अपनी दादी को गोली मारी थी, जो अभी जीवित हैं, मगर गंभीर स्थिति में है.

सेमीआटोमैटिक राइफल से लैस था शूटर : सूत्रों ने पुष्टि की है कि रामोस एक हैंडगन और एआर -15 सेमीआटोमैटिक राइफल से लैस था. शूटर के पास उच्च क्षमता वाली मैग्जीन भी थीं. स्कूल की वेबसाइट के मुताबिक मारे गए छात्रों की उम्र 5 से 11 साल के बीच है. उवाल्डे के पुलिस प्रमुख उवाल्डे पीट अर्रेडोंडो ने कहा, ‘आज सुबह लगभग 11:32 बजे रॉब एलीमेंट्री स्कूल में फायरिंग की घटना हुई. जवाबी कार्रवाई में हत्यारे को मार गिराया गया.’ उन्होंने कहा कि मृतक बच्चे दूसरी, तीसरी और चौथी कक्षा के हैं जिनकी उम्र 7 साल से 10 साल के बीच है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को जापान से वापसी की उड़ान के दौरान शूटिंग के बारे में जानकारी दी गई. बाइडेन क्वाड समिट में शामिल होने जापान गए थे.

बाइडेन ने जताई संवेदना, 28 मई तक आधा झुका रहेगा अमेरिकी ध्वज : बाइडेन के प्रेस सचिव काराइन जीन-पियरे ने कहा कि बाइडेन वाशिंगटन लौटने के बाद शाम को मीडिया को संबोधित करेंगे. एक ट्वीट में, जीन-पियरे ने लिखा: ‘उनकी (बाइडेन की) संवेदनाएं इस भयानक घटना से प्रभावित परिवारों के साथ हैं.’ बाइडेन ने टेक्सास में मारे गए लोगों की याद में शनिवार 28 मई को सूर्यास्त तक अमेरिकी ध्वज को आधा झुकाए रखने का आदेश दिया है. सभी सार्वजनिक भवनों, मैदानों, सैन्य चौकियों, नौसेना स्टेशनों, नौसैनिक जहाजों, दूतावासों, कांसुलर कार्यालयों और सैन्य सुविधाओं पर अमेरिकी ध्वज आधा झुका रहेगा.

जांच के आदेश : उवाल्डे में गोलियों की आवाज सुनते ही सभी स्कूलों में ताला लगा दिया गया. मौतों की पुष्टि के अलावा कई लोग घायल भी हुए हैं. हालांकि घायलों की संख्या के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है. एबॉट ने कहा कि उन्होंने टेक्सास के सार्वजनिक सुरक्षा विभाग और टेक्सास रेंजर्स को शूटिंग की जांच के लिए स्थानीय कानून प्रवर्तन के साथ काम करने का निर्देश दिया है.

बाइडेन बोले-अब एक्शन लेने का समय : अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने निराशा और गुस्से के साथ कहा, ‘एक राष्ट्र के रूप में, हमें पूछना होगा कि भगवान के नाम पर हम कब तक बंदूक की लॉबी के लिए खड़े होंगे और इसके खिलाफ क्या कर सकते हैं? जो माता-पिता अपने बच्चों को फिर कभी नहीं देख पाएंगे, उनके बारे में सोचने की जरूरत है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि अब एक्शन लेने का समय है. हमें उन लोगों को बताने की जरूरत है जो इस तरह कानून के खिलाफ जाकर बंदूक उठाते हैं, हम उन्हें माफ नहीं करेंगे.’

सोशल मीडिया पर संदिग्ध की फोटो, पर आधिकारिक पुष्टि नहीं
टेक्सास गवर्नर एबॉट ने जब बताया कि हत्यारे की पहचान सल्वाडोर रामोस के तौर पर हुई है, तब सोशल मीडिया पर एक युवक की फोटो वायरल हो गई। यह इंस्टाग्राम पेज सल्वाडोर रामोस का बताया जा रहा है। इस पर एक युवक की मोबाइल के साथ फोटो है। इसके अलावा पेज पर राइफल की फोटोज भी पोस्ट की गई हैं। बताया जा रहा है कि यही टेक्सास फायरिंग का संदिग्ध है। हालांकि, अभी तक इन फोटोज की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। यह इंस्टाग्राम पेज भी शूटिंग के कुछ ही देर बाद हटा दिया गया।

हर साल बढ़ रहे गोलीबारी की घटनाएं
इस साल में अब तक अमेरिका के 27 स्कूलों में गोलीबारी हो चुकी है। वहीं देशभर में गोलीबारी की 200 से ज्यादा घटनाएं सामने आ चुकी हैं। नेशनल गन वायलेंस मेमोरियल के आंकड़ों के मुताबिक, 2021 में अमेरिका में गोलीबारी के 693 मामले सामने आए, 2020 में 611 मामले और 2019 में गोलीबारी की 417 घटनाएं दर्ज की गई थीं। आंकड़ों से साफ जाहिर है कि अमेरिका में गोलीबारी के मामले हर साल बढ़ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News