Hazaribagh : गंभीर हाल में आए मरीज का टॉर्च की रोशनी में इलाज, खुली पोल तो उड़ गए प्रशासन के होश

hazaribgah me mobile light se mariz ka ilaj

सार
हजारीबाग मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (Hazaribagh Medical College Hospital) में लापरवाही की पोल खोलती तस्वीरें सामने आईं हैं. एक व्यक्ति ने डीसी को टैग करते हुए एक वीडियो शेयर किया है जिसमें ट्रॉमा सेंटर में एक मरीज का इलाज टॉर्च से किया जा रहा है.

HIGHLIGHTS
झारखंड के हजारीबाग का है मामला
अस्पताल ने वीडियो को बताया गलत
स्थानीय विधायक के सचिव ने शूट किया वीडियो

Hazaribagh : हजारीबाग जिले के एक अस्पताल में आकाशीय बिजली गिरने से गंभीर रूप से घायल व्यक्ति का इलाज मोबाइल फोन के टॉर्च की रोशनी में करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद प्रशासन की नींद खुली है। प्रशासन ने मामले की जांच के लिए एक समिति का गठन किया है।

अस्पताल ने वीडियो को बताया गलत
यह वीडियो हजारीबाग मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल का बताया जा रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद अब प्रशासन जांच की बात कह रहा है। हालांकि अस्पताल प्रशासन ने इस आरोप से इनकार किया है कि मरीज का मोबाइल फोन की टॉर्च की रोशनी में इलाज किया जा रहा था। अस्पताल प्रशासन ने इसे झूठा करार दिया।

स्थानीय विधायक के सचिव ने शूट किया वीडियो
हजारीबाग विधायक मनीष जायसवाल के सचिव रंजन चौधरी ने इस वीडियो को शूट किया, जिसमें कथित तौर पर दिखाया गया है कि मरीज का बिजली कटौती में इलाज किया जा रहा है और इसे सोशल मीडिया पर डाल दिया। चौधरी ने आरोप लगाया कि अस्पताल प्रशासन को सूचना देने के बावजूद बिजली बहाल नहीं की गई।

गौरतलब है कि जिले के कटकमसांडी प्रखंड के अरघुसाई गांव का 24 वर्षीय सागर कुमार राणा बृहस्पतिवार शाम आकाशीय बिजली की चपेट में आने से घायल हो गया था। उसे एचएमसीएच लाया गया और उसी रात इलाज के लिए अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था। ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर ने मरीज का ईसीजी कराने का निर्देश दिया। ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर ने मरीज का ईसीजी कराने का निर्देश दिया। इस दौरान अस्पताल की बिजली गुल हो गई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News