रांची DAV के प्रिंसिपल ने मांगा किस, महिला नर्सिंग स्टाफ को बोला- सिर्फ किस करने दो !

ranchi dav principle kiss

सार
रांची के प्रसिद्ध डीएवी कपिलदेव पब्लिक स्कूल के प्रंसिपल पर महिला कर्मी ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

स्टोरी हाइलाइट्स
डीएवी स्कूल के प्रिंसिपल पर आरोप
महिला सहकर्मी के यौन शोषण की कोशिश

Jharkhand News : राजधानी रांची के डीएवी कपिलदेव स्कूल के प्रिंसिपल की गंदी बात का ऑडियो और वीडियो सामने आया है। प्रिंसिपल बिहार के जमुई का रहने वाला है। वह महिला नर्सिंग स्टाफ को बीपी चेक करने के बहाने अपने चैंबर में बुलाकर किस मांगता था। महिला ने दो साल के हैरेसमेंट के बाद प्रिंसिपल पर एफआईआर दर्ज कराई है। ऑडियो और वीडियो महिला ने ही रिकॉर्ड किया है। एफआईआर में महिला ने कहा है कि प्रिंसिपल उसे अश्लील वीडियो वॉट्सएप पर भेजता है। चैंबर में बुलाकर अश्लील हरकत करता है।

मामला राजधानी रांची के कडरू इलाके के प्रतिष्ठित डीएवी कपिलदेव स्कूल का है। प्रिंसिपल मनोज कुमार सिन्हा के खिलाफ इस संबंध में अरगोड़ा थाना में 24 मई को FIR दर्ज कराई गई है। पीड़िता ने अपने आवेदन में कहा कि प्रिंसिपल हर रोज ब्लड प्रेशर चेक कराने के बहाने अपने चैंबर में बुलाता था। फिर धीरे-धीरे उसके शरीर को टच करता था। सेफ्टी के तौर पर वह हमेशा अपना फोन ऑन करके जाती थी। इसकी जानकारी प्रिंसिपल को नहीं थी।

अश्लील हरकत के लिए बनाते थे दबाव
इतना ही नहीं वह अश्लील हरकत करने के लिए दबाव भी डालता था। खाली टाइम पर व्हाट्सएप चैट या कॉल करने का दबाव भी बनाता था। प्रिंसिपल व्हाट्सएप पर अश्लील वीडियो भी भेजता था। कई बार उन्होंने न्यूड वीडियो कॉल करने के लिए दबाव बनाया पर पीड़िता ने कभी उसकी बात नहीं मानी।

जबरदस्ती करने की भी की थी कोशिश
उसने बताया कि एक दिन प्रिंसिपल जबरन उसके कमरे में चला आया। उसके साथ जबरदस्ती करने लगा। उसका वीडियो भी उसके पास है। उसने स्कूल के अन्य शिक्षकों से भी ये बात शेयर की लेकिन तब तक लॉक डाउन हो गया और स्कूल बंद हो गया।

उसने अपनी शिकायत में लिखा है कि इससे पहले भी एक टीचर प्रिंसिपल के व्यवहार से तंग आकर स्कूल छोड़ चुकी है। कुछ लोग नौकरी जाने के डर से प्रिंसिपल के खिलाफ आवाज नहीं उठाते हैं। अरगोड़ा थाना प्रभारी विनोद कुमार ने बताया कि एफआईआर के बाद मामले की जांच की जा रही है। मामले में प्रिंसिपल एमके सिन्हा का पक्ष जानने की कोशिश की गई लेकिन उनसे सम्पर्क नहीं हो पाया।

कई महिला कर्मचारियों ने छोड़ा स्कूल
पीड़िता ने जब आरोपी प्रिंसिपल की गलत बातों को नहीं माना तो प्रिंसिपल ने जहां-तहां ड्यूटी लगाकर परेशान किया. पीड़िता को बार-बार धमकी देते थे कि मेरी बात मान लो तो तुमको ऊंचाई तक पहुंचा देंगे, यदि तुम नहीं मानी तो तुम बहुत परेशान हो जाओगी. प्राथमिकी में यह भी बताया कि प्रिंसिपल स्कूल में काम करने वाली अन्य महिलाओं, टीचिंग स्टाफ के साथ भी यौन शोषण करने का प्रयास करते थे. उसके लिए वह काफी परेशान करते थे. जिसके कारण कुछ महिला कर्मियों ने स्कूल भी छोड़ दिया.

पीड़िता ने पुलिस को सौंपा वीडियो
पीड़िता ने आरोपी प्रिंसिपल का एक रिकॉर्ड किया हुआ वीडियो भी पुलिस को सौंपा है. पीड़िता का कहना है कि लगातार यौन उत्पीड़न से तंग आकर उसने में ये FIR दर्ज कराई है. आरोपी पीड़िता को अपने प्रभावशाली संपर्क की धौंस देकर धमकाता भी था. पुलिस इस मामले को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर छानबीन में जुट गई है. आरोपी प्रिंसिपल के वाट्सएप चैट भी वायरल हो रहे हैं. वहीं आरोपी प्रिंसिपल का मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा है, इसलिए काफी कोशिश के बाद भी उनसे संपर्क नहीं हो सका है.

जमुई का रहने वाला है
मनोज सिन्हा झारखंड जोन एफ का सहायक क्षेत्रीय पदाधिकारी है। इस जोन में रांची, जमशेदपुर और खूंटी जिले के 10 महत्वपूर्ण डीएवी स्कूल आते हैं। सिन्हा को तीन दशक का शिक्षण का अनुभव है। मूल रूप से बिहार के जमुई जिले का रहने वाले सिन्हा ने 1992 में डीएवी में टीचर के रूप में जॉइन किया था। 3 जनवरी, 2018 को सिन्हा ने डीएवी कपिलदेव कडरू के प्रिंसिपल का पदभार ग्रहण किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News