स्कूल में बच्ची को बंद कर चले गए शिक्षक, BSA ने पूरा स्टाफ किया सस्पेंड |

BACHHE KO SCHOOL ME BAND KIYA

बुलंदशहर से प्राइमरी स्कूल के शिक्षकों की लापरवाही सामने आई है। शिक्षक संघ के चुनाव में वोटिंग की ट्रेनिंग में जाने की जल्दबाजी में स्कूल के 7 शिक्षक और 1 कर्मचारी एक 6 साल की छात्रा को क्लास के अंदर बंद करके चले गए। मासूम बच्ची करीब 2 घंटे तक क्लास की खिड़की पकड़कर रोती रही।

दूसरी ओर परिवार के लोग ग्रामीणों के साथ बच्ची को जंगल में ढूंढते रहे। स्कूल के पास से गुजर रहे एक राहगीर ने बच्चे के रोने की आवाज सुनी। उसने गांव के लोगों को बच्ची के बंद होने की सूचना दी। इसके बाद परिवार के लोग मौके पर पहुंचे। उन्होंने बच्ची को क्लास रूम का ताला तोड़कर बाहर निकाला। मामले में 7 शिक्षक और 1 कर्मचारी को सस्पेंड कर दिया गया है।

स्कूल के अंदर थे 7 शिक्षक और 1 कर्मचारी
मामला गुरुवार का गुलावठी विकास खंड क्षेत्र के प्राइमरी स्कूल का है। सुबह 11:30 बजे टीचर बच्ची को बंद करके चले गए। बताया जा रहा है कि स्कूल में 7 शिक्षक और 1 कर्मचारी थे। स्कूल सुबह 8 बजे शुरू होता है और 12 बजे बच्चों की छुट्‌टी हो जाती है। शिक्षकों को वोटिंग की ट्रेनिंग में 12 बजे के बाद जाना था, लेकिन वो लोग आधा घंटे पहले ही चले गए।

बच्ची को ताला तोड़कर बाहर निकाला गया
पिता रुक्मदीन का कहना है, “मेरी बेटी रोज 11:45 तक घर पहुंच जाती थी। गुरुवार को जब वह 12 बजे तक नहीं आई तो हम लोग उसके ढूंढने के लिए घर से निकले। हम लोग पहले बेटी को जंगल में ढूंढे, लेकिन वह नहीं मिली। करीब डेढ़ घंटे बाद हमें पता चला कि इकरा स्कूल में ही बंद है। उसके बाद हम लोग स्कूल पहुंचे। ताला तोड़कर बेटी को बाहर निकाला। हम लोगों ने पुलिस को भी मामले की जानकारी दी।

बता दें, स्कूल में 144 बच्चों पढ़ते हैं। मामले में BSA ने लापरवाही में 7 शिक्षक और एक फोर्थ क्लास के कर्मचारी को सस्पेंड कर दिया है। इससे पहले जुलाई में हाथरस और बलिया, अगस्‍त में मुरादाबाद और सितंबर महीने में संभल के स्‍कूलों से भी ऐसी घटनाएं सामने आ चुकी हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News