ट्रेन के इंजन के नीचे बैठकर 190KM का सफर, गया में ड्राइवर नीचे उतरा तो पानी मांगने की आवाज सुनी !

train engine ke neeche se kiya 190 km ka safar

Viral News : राजगीर से गया तक 190 KM की दूरी एक शख्स ने ट्रेन के इंजन के नीचे घुसकर की। गया रेलवे स्टेशन पर ड्राइवर जब नीचे उतरा तो इंजन के नीचे से पानी मांगने की आवाज सुनी। ड्राइवर ने झुक कर देखा तो हैरान रह गया। रेलवे अफसरों को सूचना दी। आरपीएफ और अन्य लोगों की मदद से उसे खींचकर बाहर निकाला गया।

घटना सोमवार की सुबह 4 बजे गया स्टेशल पर राजजगीर-पटना-गया वाराणसी-सारनाथ बुद्ध पूर्णिमा एक्सप्रेस की है। घटना के बाद शख्स गायब हो गया। ड्राइवर के मुताबिक वह ट्रेन के इंजन के नीचे सेंट्रल मोटर (ट्रैक्शन मोटर) के पास बैठा था। रेल कर्मचारियों का कहना है कि जिस स्थान पर वह व्यक्ति था वहां घुसकर बैठना नामुमकिन सा है। रेल कर्मी विक्षिप्त बता रहे हैं।

इंजन के नीचे से पानी मांगने की आवाज आई तो खुला राज

बुद्ध पूर्णिमा एक्सप्रेस राजगीर से पटना होते हुए सोमवार की सुबह करीब 4 बजे गया पहुंची थी। उस ट्रेन के ड्राइवर एस चौधरी ने इंजन से उतरकर प्लेटफॉर्म पर कदम रखा ही था कि इंजन के नीचे से किसी व्यक्ति की पानी मांगने की आवाज उन्हें सुनाई दी। पानी मांगे जाने की आवाज सुन कर वह कुछ पल के लिए चौंक गए, लेकिन टॉर्च के सहारे इंजन के नीचे उन्होंने देखा तो किसी व्यक्ति के फुसफुसाने की आवाज सुनाई दी। आवाज सेंट्रल मोटर के निकट से आ रही थी।

इंजन के नीचे जाना बेहद ही कठिन है

इस बात की सूचना उन्होंने तुरंत डिप्टी एसएस को दी। इसकी जानकारी आरपीएफ पोस्ट को भी दी गई। इसके बाद आरपीएफ और रेल मुसाफिरों की मदद से किसी तरह से उस व्यक्ति को बाहर निकाला। रेलवे के जानकारों का कहना है कि इंजन w A P-7 मॉडल ABB इंजन है। इसके नीचे किसी व्यक्ति का जाना बेहद कठिन है और वहां जाकर बैठ जाना तो और भी कठिन है।

इधर, जिस व्यक्ति को ट्रेन के इंजन से निकाला गया उसकी पहचान नहीं हो सकी। वह विक्षिप्त है। इस मसले पर कोई भी अधिकारी अब कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं। हर कोई अब पल्ला झाड़ रहा है। इसके पीछे कारण यह भी है कि जीएम फिलहाल धनबाद में पहुंचे हुए हैं। ऐसे में रेलवे का कोई भी कर्मी कुछ भी कहने से कतरा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News