दो लड़कियों को हुआ आपस में प्यार, SSP तक पहुंचा मामला, मांग रहीं सुरक्षा

patna ki do ladki ko aapas me hua pyar

सार
सर्वोच्च अदालत द्वारा समलैंगिकता को लेकर दिए गए फैसले के बावजूद आज भी लेस्बियन लोगों को समाज में अच्छा नहीं माना जाता. राजधानी पटना ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जहां दो लड़कियां अपने समलैंगिक रिश्ते को मान्यता दिलाने के लिए एसएसपी से गुहार लगा रही हैं.

Patna : अजीबोगरीब मामला बिहार की राजधानी पटना का है, जहां दो लड़कियां घर से भाग निकली है। दोनों के बीच प्रेम प्रसंग बताया जा रहा है। वहीं, इसको लेकर एक लड़की के परिजन ने पाटलिपुत्रा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। एफआईआर दर्ज होने के बाद दोनों लडकियां महिला थाने पहुंच गई और एसएसपी आवास पहुंचकर सुरक्षा की गुहार लगाई। दोनों लडकियां एक-दूसरे से शादी करना चाहती हैं। दोनों को समझाने-बुझाने की काफी कोशिश की गई, लेकिन वे अपनी ज़िद पर अड़ी हैं। एक लड़की पाटलिपुत्रा थाने के इंद्रपुरी तो वहीं दूसरी दानापुर इलाके की रहने वाली है। लड़कियों ने थाने में जाकर बताया कि वे दोनों एक-दूसरे से बहुत प्यार करती हैं और अब शादी के बंधन में बंधना चाहती हैं। परिवारवाले इसके लिए इंकार कर रहे।

‘साजिश के तहत हमें फंसाया जा रहा’: दरअसल पाटलिपुत्रा इलाके की रहने वाली युवती तनिष्क श्री के परिजनों को जब दोनों के रिश्ते के बारे में पता चला तो उन्होंने उसके अपहरण का एक मामला पाटलिपुत्रा थाना में दर्ज कराया. आरोप लगाया कि तनिष्क की दोस्त श्रेया के परिवार वालों ने उसका अपहरण कर लिया है. जिसके बाद ये दोनों लड़कियां पटना महिला थाने पहुंची और बताया कि एक साजिश के तहत हमें फंसाया जा रहा है. हमारे परिवार वाले हम दोनों के रिश्ते को स्वीकार नहीं कर रहे. उन्होंने ये भी कहा कि उनकी जान को खतरा है.

‘हम 18 प्लस हैं. यानी हम बालिग हैं और हम दोनों लड़कियां एक साथ रह सकते हैं. सरकार ने हमें यह छूट दी है. लेकिन मेरे परिवार वालों ने मेरी मित्र श्रेया घोष के परिवार वालों पर आरोप लगाया है कि मेरी बेटी का अपहरण कर लिया गया है. जबकि ऐसी कोई बात नहीं है. कोई जोर जबरदस्ती किसी के द्वारा मेरे साथ नहीं की गई है. मैं अपनी मर्जी से श्रेया साथ रहना चाहती हूं’- तनिष्क श्री, युवती

‘हम अपनी दोस्त तनिष्क श्री के साथ ही रहना चाहते हैं. हम दोनों ने एक साथ रहने की ठान ली है, जो मेरी मित्र के परिवार वालों को पसंद नहीं है और उन्होंने मेरे परिवार पर आरोप लगाया है. मैं अपनी मर्जी से अपनी मित्र के साथ रहना चाहती हूं और पुलिस से सहायता चाहती हूं कि वह हमारी जान की रक्षा करें’- श्रेया घोष, युवती

तनिष्क श्री बताती हैं कि घर के लोगों को जब इन दोनों के रिश्तों की जानकारी हुई थी. तब उनके परिजन ने उससे मोबाइल छीन लिया था. घर से बाहर निकलना बंद हो गया था. उसके बाद एक दिन उसने अपनी महिला मित्र सहरसा की रहने वाली श्रेया घोष के साथ रहने का फैसला किया. फिर तनिष्क श्री ने फिल्म देखने जाने का बहाना बनाकर अपनी महिला मित्र श्रेया के पास पहुंच गई. उसके बाद तनिष्क के परिजनों ने उसकी महिला मित्र पर अपहरण का केस जड़ दिया, जो पूरी तरह से निराधार है.

एसएसपी आवास पहुंचकर लगाई गुहारः वहीं, इस पूरे मामले में अपने साथ न्याय की मांग को लेकर दोनों युवतियां पहले महिला थाने पहुंची. जहां महिला थाने में इन दोनों की कंप्लेन रिसीव नहीं हुई. इसके बाद दोनों युवतियां सीधे पटना एसएसपी आवास पहुंच गईं और एसएसपी आवास के बाहर न्याय की गुहार लगाने लगीं. हालांकि इस दौरान गश्ती पुलिस ने इन दोनों के मामले पर संज्ञान लेने का भरोसा देकर उन्हें स्थानीय थाना ले गई.

जानें क्या है ‘LGBTQ’ का मतलब
आसान शब्दों में समझे तो ‘LGBTQ’में L,का मतलब है, लेस्बियन. मतलब ऐसी स्थिति जिसमें दो फीमेल्स एक-दूजे के प्रति शारीरिक आकर्षण रखती है.

G का मतलब है, ‘गे’. इसमें दो मेल्स एक-दूसरे के प्रति शारीरिक आकर्षण रखते हैं. जबकि B बाईसेक्सुअल को दर्शाता है. इसमें शारीरिक आकर्षण मेल एंड फीमेल दोनों की तरफ समान रुप से होता है.

अब बात करते है अक्षर है T, जो ट्रांसजेंडर्स को रिप्रेजेंट करता है. यह शब्द उन लोगों के यूज किया जाता है, जो जन्मजात निर्धारित लिंग के विपरीत लिंग की भूमिका में जीवन बिताते हैं. अंत में अक्षर Q में वो लोग आते हैं, जो खुद को ना लेस्बियन मानते हैं, ना गे, ना बाईसेक्सुअल और ना ही ट्रांसजेंडर.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News