रांची हिंसा का यूपी कनेक्शन? सहारनपुर से आए 12 लोगों ने मुस्लिम युवकों को भड़काया, जांच में जुटी पुलिस !

ranchi hinsa ka up connection

सार
पैगंबर मोहम्मद (Prophet Muhammad) विवाद पर हुई हिंसा (Violence) में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से करीब एक दर्जन लोग पहुंचे थे.

Ranchi Violence: रांची में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद पैगबंर मोहम्मद पर की गई विवादित टिप्पणी को लेकर हिंसक झड़प हुई। उग्र प्रदर्शनकरियों ने पथराव, आगजनी और हवा में फायरिंग की। हिंसा में दो लोग घायल हो गए जबकि कई घायल हैं। इसी बीच हिंसा का यूपी कनेक्शन सामने आ रहा है। बताया जा रहा है कि एक हफ्ते पहले सहारनपुर से लगभग एक दर्जन लोग रांची आए थे। इन्होंने विवादित टिप्पणी को लेकर मुस्लिम युवकों से चर्चा की थी।

इंडिया टुडे को सूत्रों ने बताया है कि पुलिस रांची में हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन में बाहरी तत्वों की संलिप्तता की जांच कर रही है। सूत्रों ने बताया है कि एक हफ्ते पहले सहारनपुर से 12 लोग रांची आए थे और पैगंबर मोहम्मद पर नुपूर शर्मा के बयान को लेकर मुस्लिम युवाओं से चर्चा की थी। इन लोगों ने कथित तौर पर युवाओं को हिंसक प्रदर्शन के लिए उकसाया और विरोध प्रदर्शन का रोडमैप बनाने का काम सौंपा था।

रांची में हुई हिंसा में जितने प्रदर्शनकारी थे उसमें ज्यादातर युवा थे। इन्हें सहारनपुर से आए लोगों ने धर्म के नाम पर भड़काया था। पुलिस टीम बाहर से आए इन लोगों की जांच में जुटी है। फिलहाल प्रशासन ने शहर में धारा 144 लागू की हुई है। भारी पुलिस फोर्स भी तैनात है जिसकी नजर शहर के चप्पे-चप्पे पर है। हिंसा की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। पुलिस ने लोगों से बिना इमरजेंसी घर से बाहर नहीं निकलने का अनुरोध किया है।

16-24 उम्र वाले युवाओं को हिंसा के लिए किया तैयार
कुछ लोगों ने आपत्ति की तो टीम ने 16 से 24 साल के युवाओं काे फांसना शुरू कर दिया। वे बहकावे में आ गए और उपद्रव का प्लाॅट तैयार हो गया। हिंसा के पीछे एक झामुमो कार्यकर्ता और पानी व्यवसायी का नाम आ रहा है। कार्यकर्ता से पुलिस ने पूछताछ भी की है।

रांची में धार 144 लागू
बता दें, रांची में हुई हिंसा के बाद प्रशासन ने धार 144 लागू कर दी है. अब रांची के 12 पुलिस स्टेशन क्षेत्रों में धारा 144 साथ-साथ अब अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात कर दी गई है. वहीं यहां एसआईटी भी गठित कर दी गई है. वहीं प्रशासन ने इंटरनेट की सेवाओं पर लगे सस्पेंशन को भी कल तक के लिए बढ़ा दिया है. अब यह रविवार तक बाधित रहेगी.

पुलिस ने घर पर रहने की दी सलाह
झारखंड में कर्फ्यू के आदेश के बाद पुलिस लोगों से घर के भीतर रहने की चेतावनी और बिना इमरजेंसी के बाहर नहीं निकलने की सलाह दे रही है. आपको बता दें कि झारखंड में हुई हिंसा में कई लोग और पुलिसकर्मी घायल हो गए थे. इन घायलों में कई की हालत गंभीर बताई जा रही है.

आपको बता दें कि शुक्रवार जुमे की नमाज के बाद असमाजिक तत्वों ने पैगंबर मोहम्मद के संबंध में कथित आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाली बीजेपी की निलंबित नेता नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मुख्य सड़क पर जमकर बवाल किया और हनुमान मंदिर तक भारी पथराव और हिंसक संघर्ष किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest News