VIP कल्चर बना बांके बिहारी हादसे की वजह, मंदिर में लोग कुचले जा रहे थे, SSP वीडियो बना रहे थे !

vip culture banke bihari

सार
मथुरा में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर में होने वाली मंगला आरती के समय बड़ी दुर्घटना हो गई. मंदिर के अंदर अत्याधिक भीड़ होने के कारण श्रद्धालुओं का दम घुटने लगा.

वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर में शुक्रवार और शनिवार की दरम्यानी रात मंगला आरती के बाद हुए हादसे में दो लोगों की मौत हो गई और दम घुटने से 6 लोग बीमार हैं। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि जो कुछ हुआ उसके लिए अफसरों की लापरवाही और VIP कल्चर जिम्मेदार है। जिस वक्त मंदिर के आंगन में भीड़ बेकाबू हो रही थी, उस समय अफसर वीडियो बना रहे थे।

घटना के समय मथुरा के DM, SSP और नगर आयुक्त मंदिर में अपने परिवार के साथ मौजूद थे। SSP, नगर आयुक्त वीडियो बना रहे थे, जबकि DM बगल में खड़े थे। इन अफसरों ने भीड़ में दब रहे लोगों की चीखें सुनकर भी व्यवस्था बनाने की जहमत नहीं उठाई, बल्कि वे परिवार के साथ मंदिर की बालकनी में खड़े होकर वीडियो बनाने में व्यस्त थे

सीएम के वृंदावन से जाते ही अफसर बेफ्रिक हुए
उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ जन्माष्टमी पर वृंदावन आए थे। वे बांके बिहारी मंदिर तो नहीं गए, लेकिन उन्होंने जन्मभूमि में पूजा की। वृंदावन से योगी के जाते ही अफसर बेफिक्र हो गए। बांके बिहारी मंदिर के सेवायत और श्रद्धालुओं ने बताया कि सीएम के रवाना होने के बाद भीड़ कंट्रोल करने वाला कोई नहीं था।

लोगों ने बताया कि मंदिर के किसी भी एंट्री गेट पर कोई बैरिकेडिंग नहीं थी। एक-दो जगह बैरिकेड लगे थे, तो वहां भी लोगों को रोकने के लिए कोई पुलिसकर्मी तैनात नहीं था। इसका नतीजा यह हुआ कि लोग एंट्री के साथ एग्जिट गेट से भी मंदिर के अंदर आते गए। आरती के समय मंदिर के आंगन में हालात बेकाबू हो गए।

इससे पहले भी हो चुकी है घटना
घटना के बाद शासन प्रशासन में हड़कंप मच गया. सभी आला अधिकारी मौके पर रात में ही पहुंच गए. सुबह होते ही आगरा के कमिश्नर अमित गुप्ता ,आईजी नचिकेता झा , एडीजी राजीव कृष्ण के साथ तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का निरीक्षण किया. इसके साथ ही आगे इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति ना हो इस पर भी मंथन किया गया. चौंकाने वाली बात यह है कि बांके बिहारी मंदिर में घटी घटना कोई पहली घटना नहीं है पहले भी इस तरह की घटना मंदिर में हो चुकी है लेकिन जिले के शासन प्रशासन ने इससे कोई सबक नहीं लिया और यह बड़ी घटना फिर दोबारा हुई.

आगरा एडीजी ने क्या कहा?
एडीजी आगरा राजीव कृष्ण का कहना है कि बांके बिहारी मंदिर में कल रात में जो हादसा हुआ वो बहुत दुखद हादसा है. इसमें अभी तक कुल दो श्रद्धालुओं की मौत हुई है. दो श्रद्धालुओं हॉस्पिटल में हैं. उनका इलाज चल रहा है और तीन लोग वहां से डिस्चार्ज हो गए हैं. इस प्रकार से कुल सात श्रद्धालु इसमें घायल हुए थे. सभी अधिकारियों के साथ चर्चा हुई है. यहां पर जो गोस्वामी हैं उनके यहां पर पूर्व समिति थी उनके साथ भी चर्चा हुई है. जहां पर श्रद्धालु आते हैं उसकी सीमा है उस सीमा के अंदर श्रद्धालुओं को कैसे रैगुलेट किया जाए जिससे की वो दर्शन भी लोग कर सके और साथ ही साथ इस प्रकार का हादसा न हो. उस पर विस्तृत चर्चा हुई है. जहां तक कल की बात कई सारे फैक्टर एक साथ जुड़ गए अगर पूजा पद्धति का सिक्वेन्स देखें दो नॉर्मली 12 बजे, पैने 12 बजे तक वहां पर दर्शन अलाउड होते हैं. जन्माष्टमी के दिन और उसके बाद दर्शन बंद हो जाते हैं. और करीब 12 बजकर 45-50 मिनट पर उसके बाद पांच मिनट की मंगला आरती होती है. जो साल में एक बार होती है. श्रद्धालुओं की अगर बात की जाए तो सभी श्रद्धालु प्रयास ये करते हैं कि वह मंगला आरती में वो शरीक हों.

उस तरह से श्रद्धालुओं की तरफ से प्रेसर भी होता है और वो दूर दूर से आते हैं. तो उनका आग्रह भी रहता है कि वो उसका दर्शन कर सकें. इन चीजों को देखते हुए और यहां की भौगोलिक स्थिति कैपेसिटी को देखते हुए, अभी डीएम और एसएसपी इसमें यहां की जो समिति है यहां के गोस्वामी है, यहां के श्रद्धालु हैं, सबके साथ मिलकर के एक योजना इस प्रकार से बना रहे हैं कि जिससे की श्रद्धालुओं के आवागमन को रेगुलेट किया जा सके और किसी प्रकार से इस प्रकार की घटना न घटे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News